जबलपुर में डेंगू का कहर जारी, इलाज के दौरान महिला पुलिस आरक्षक की मौत

बीते दिनों महिला आरक्षक उषा तिवारी की डेंगू की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी जिसके बाद वो घर में रहकर दवाईयां ले रही थी। अचानक तबियत बिगड़ने से उन्हें अस्पताल भर्ती कराया गया था।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में डेंगू काल बनकर हर घर में दौड़ रहा है। लगातार डेंगू से शहर की स्थिति बिगड़ रही है। इधर आज डेंगू ने पुलिस लाइन में पदस्थ एक महिला पुलिस आरक्षक की जान ले ली। मृतिका महिला पुलिस आरक्षक का नाम उषा तिवारी है जो कि कुछ दिनों पहले डेंगू से संक्रमित हुई थी और उनका इलाज शहर के निजी अस्पताल में चल रहा था। वहीं आज इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

जबलपुर में डेंगू का कहर जारी, इलाज के दौरान महिला पुलिस आरक्षक की मौत

आलम्बन शाखा में कार्यरत थी उषा तिवारी

पुलिस लाइन के आलम्बन शाखा में पदस्थ उषा तिवारी का स्वास्थ खराब होने के कारण उन्होंने 9 सितंबर को डाक्टर से चैक करवाया और दवाईयाँ ली थी। डाक्टर की सलाह पर टेस्ट कराये थे तभी रिपेार्ट में डेंगू पॉजिटिव आया और उनकी प्लेटलेट्स 1 लाख 20 हजार हो गई थीं। जिसके बाद से वो घर पर ही रहकर दवाईयां ले रही थी। तभी बीते दिन स्वास्थ ज्यादा खराब होने पर इलाज के लिये उन्हें तुरंत निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहाँ आज इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गयी।

ये भी पढ़ें- Video : हनुमान मंदिर पहुंची प्रियंका गांधी को देखकर पुजारी ने क्या कहा , आप भी सुनिए

महिला पुलिस आरक्षक की मौत की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा त्रिमूर्तिनगर स्थित उनके घर पहुंचे और शोकाकुल परिवार को सांतवना दी। उन्होंने कहा कि दुख की घड़ी में पूरा पुलिस परिवार उनके साथ है, एसपी ने मौके पर उपस्थित अधिकारियों को सभी व्यवस्थाओं के लिये आदेशित किया एवं तत्काल परोपकार निधि राशि 1 लाख रूपये देने के लिए रक्षित निरीक्षक सौरभ तिवारी को निर्देशित किया गया।