सर्प दंश से युवक की मौत, झाड़-फूंक की मानसिकता से बाहर नहीं निकल पा रहे ग्रामीण

डिंडौरी/ प्रकाश मिश्रा। बरसात की शुरुआत होते ही जिले के ग्रामीण अंचलों में सर्पदंश के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। देखा जा रहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहवासी घरों के आसपास पानी का भराव हो जाने के कारण जहरीले जीव जंतुओं का रुख घरों की ओर हो जाता है। जिसके कारण आम नागरिक जहरीले जीव जंतुओं का शिकार हो जाते हैं।

ऐसा ही एक मामला समनापुर जनपद के माधोपुर ग्राम पंचायत के अंतर्गत ग्राम बहेरा टोला का है। जहां एक 34 वर्षीय युवक की सर्पदंश से मृत्यु हो गई। बताया जाता है कि युवक रामभुवन परमार पिता रतन सिंह निवासी बहेरा टोला रात के समय अपने घर में सोया हुआ था। उसी समय किसी जहरीले सर्प ने उसे डस लिया। घटना की जानकारी परिजनों को लगते ही आनन-फानन में युवक को नजदीकी गांव में झाड़-फूंक के लिए ले जाया गया। आराम ना मिलने पर परिजन उसे जिला अस्पताल लेकर आये जहां इलाज के दौरान के युवक की मृत्यु हो गई। इमरजेंसी ड्यूटी डॉक्टर एके वर्मा ने बताया कि जब युवक को जिला अस्पताल लाया गया तब उसकी स्थिति बहुत ही खराब थी। युवक को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया गया, किंतु नहीं बचाया जा सका।

घटना की जानकारी लगते ही बड़ी संख्या में ग्रामीणों का जमावड़ा जिला अस्पताल में हो गया। सैकड़ों की संख्या में महिला और पुरुष इस दुखद घटना के बाद परिवार जनों के साथ युवक को देखने जिला अस्पताल पहुंच गए। बताया जाता है कि मृतक राम भुवन के दो बेटे और एक बेटी है। ग्रामीणों ने बताया कि युवक काफी मिलनसार प्रवृत्ति का था, सबकी मदद के लिए हमेशा तैयार रहता था। जिसके कारण बड़ी संख्या में ग्राम वासी जिला अस्पताल उसे देखने पहुंचे हैं।