सत्यपाल सिंह सिकरवार के निष्कासन के बाद फूटा समर्थकों का गुस्सा, BJP के झंडे-बैनर में लगाई आग

मुरैना, संजय दीक्षित। मध्यप्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh By-election) की वोटिंग से ठीक 48 घंटे के पहले बीजेपी द्वारा सुमावली (Sumawali Assembly) के पूर्व विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार (Former MLA Satyapal Sikarwar) को पार्टी से निष्कासित करने से सियासत गर्मा गई है। समर्थकों में भारी गुस्सा फूट पड़ा है। और वे सड़कों पर उतरकर BJP के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे है।

इस दौरान मुरैना में सिकरवार के समर्थकों द्वारा प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा (VD Sharma) और केन्द्रीय मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) का पुतला फूंका गया।इतना ही नही समर्थकाें ने भाजपा के झंडे और बैनर में आग भी लगा दी। साथ ही भाजपा के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की है। वहीं पूर्व विधायक के बंगले पर समर्थकों का जमावड़ा लगा हुआ है।सूचना मिलते ही सिविल लाइन थाना पुलिस के कर्मचारी मौके पर पहुंच गए , जब तक समर्थकों ने पुतला दहन कर दिया था।

वोटिंग से पहले नीटू के निष्कासन से मुरैना जिले (Morena District) की 5 विधानसभा सीटों (MP Assembly Seats) पर भाजपा को भारी जोखिम उठाना पड़ सकता है, क्योंकि पूर्व विधायक का चम्बल अंचल पर अच्छा खासा प्रभाव है।निष्कासन से सिकरवार समर्थक ही नही पूरे अंचल में हर जाति विशेष वर्ग का व्यक्ति पार्टी के फैसले से खुश नही है, इसलिए चम्बल अंचल की समस्त सीटों पर होने वाले उपचुनाव में बीजेपी को बहुत बड़ा नुकसान हो सकता हैं ।

दरअसल, बीते दिनों BJP ने पार्टी के सीनियर नेता गजराज सिंह सिकरवार और उनके बेटे पूर्व विधायक सत्यपाल सिंह (नीटू) सिकरवार (Satyapal Singh Sikarwar) को ग्वालियर-चंबल चुनाव से दूर कर दिया था । पार्टी ने दोनों को दूसरे जिलों में चुनाव ड्यूटी के लिए जाने को कहा था। इसके पीछे वजह यह है कि गजराज सिंह के बड़े बेटे सतीश सिकरवार (Satish sikarwar) भाजपा से बगावत करके कांग्रेस के टिकट पर ग्वालियर से चुनाव लड़ रहे हैं।

भाजपा को आशंका थी कि सतीश के परिजन भाजपा का साथ नहीं देंगे, इसीलिए सतीश के परिजनों को बड़ा मलहरा में जाकर प्रचार के लिए कहा गया है, लेकिन ऐसा नही किया गया तो  शर्मा (VD Sharma) ने सुमावली विधानसभाके पूर्व विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार (Satyapal Sikarwar) “नीटू” को घोर अनुशासनहीनता के कारण पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया है।सुत्रों की माने तो उपचुनाव से पहले बीजेपी को भितरघात का डर बना हुआ है, ऐसे में वोटिंग से पहले बीजेपी कोई रिस्क नही लेना चाहती ,जिसके चलते यह कार्रवाई की गई है।

 

MP Breaking News MP Breaking News MP Breaking News

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here