कांग्रेस विधानसभा प्रभारी से मारपीट, विरोध में कांग्रेसियों ने घेरा थाना

थाना घेरकर बैठे कांग्रेसियों का कहना था कि जब तक थाना प्रभारी सस्पेंड नहीं किया जाएगा धरना जारी रहेगा

मुरैना, संजय दीक्षित| पुलिस (Police) द्वारा सिहौंनिया में कांग्रेस प्रत्याशी (Congress Candidate) के भाई से की गई मारपीट का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ है कि जौरा पुलिस ने एक ओर कारनामा कर दिया। इस बार जौरा में कांग्रेस के विधानसभा प्रभारी के ड्राइवर को पुलिस ने पीट दिया है। कांग्रेस (Congress) का कहना है कि यह मारपीट जौरा थाना प्रभारी डीएस कुशवाह सहित अन्य पुलिस स्टाफ ने की है। पुलिस के इस रवैये को लेकर कांग्रेस प्रत्याशी पंकज उपाध्याय सहित कांग्रेस के तमाम नेताओं ने जौरा थाना घेर लिया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते रहे।

थाना घेरकर बैठे कांग्रेसियों का कहना था कि जब तक थाना प्रभारी सस्पेंड नहीं किया जाएगा धरना जारी रहेगा। खास बात यह है कि रात 8 बजे तक यानि घटना के दो घंटे बाद तक थाने पर हंगामा होता रहा लेकिन कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा व एसपी अनुराग सुजानिया इस मामले में कार्रवाई सुनिश्चित नहीं कर पाए थे। निर्वाचन आयोग के संज्ञान में मामला लाए जाने की बात कहकर कलेक्टर मामले को लटकाए रहे। समाचार लिखे जाने तक जौरा थाने के सामने धरना प्रदर्शन जारी था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जौरा में कांग्रेस के विधानसभा प्रभारी अमित शर्मा तकरीबन शाम 6 बजे अपने वाहन में सवार होकर एमएस रोड पर दुर्गा पुरी कालोनी के पास गुजर रहे थे कि पुलिस ने उनके वाहन को चैकिंग के नाम पर रोक लिया। जानकारी के अनुसार इसी दौरान कुछ कहासुनी हुई और थाना प्रभारी डीएस कुशवाह व उनके साथ मौजूद पुलिस स्टाफ ने अमित शर्मा के वाहन के ड्राइवर नरेन्द्र पांडे की मारपीट कर दी। इस घटना की जानकारी जैसे ही कांग्रेस प्रत्याशी पंकज उपाध्याय व कांग्रेस नेताओं को मिली तो वे तत्काल थाने पहुंचे और थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। थाने के सामने हंगामा होते देख एसडीएम नीरज शर्मा व एसडीओपी कैलारस मौके पर पहुंचे गए और कांग्रेसियों को समझाने का प्रयास किया लेकिन कांग्रेसियों ने दो टूक शब्दों में कह दिया कि जब तक थाना प्रभारी को हटाया नहीं जाएगा तब तक धरना जारी रहेगा। इस मामले की जानकारी रात 8 बजे तक कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग वर्मा तक भी पहुंच गई लेकिन वे भी इस मामले में कोई एक्शन नहीं ले सके। थाने के सामने धरना देने वालों में दिमनी के पूर्व विधायक बलवीर डंडौतिया, विधानसभा प्रभारी अवनीश भार्गव, अमित शर्मा, सोवरन सिंह सिकरवार, महेशदत्त मिश्रा, देवेन्द्र सिंह सिकरवार, शैलेन्द्र दुबे, सुरेश रावत, अंशु शुक्ला, मदनमोहन भारद्वाज, संतोष शर्मा सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद रहे। समाचार लिखे जाने तक पुलिस के खिलाफ नारेबाजी व धरना जारी था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here