कमलनाथ के दिल्ली से लौटने के बाद पार्टी संगठन में होगा बड़ा फेरबदल, कई पदाधिकारियों पर गिरेगी गाज

दिल्ली रवाना होने से पहले कमल नाथ ने उन सभी 19 सीटों के विधानसभा प्रभारी और जिला अध्यक्षों से रिपोर्ट मांगी जिन पर कांग्रेस को हार मिली है

कमलनाथ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| उप-चुनाव (By-election) में मिली करारी हार के बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) कांग्रेस (Congress) अब उप-चुनाव के परिणामों (Result) की समीक्षा (Review) कर रही है। भोपाल (Bhopal) में चुनावों (Election) के नतीजे आने के दूसरे दिन अपने विधायकों (MLA) की बैठक लेने के बाद पार्टी सुप्रीमों सोनिया गांधी (Party Supreemo Soniya Gandhi) से मुलाकात करने कमल नाथ (Kamal Nath) शुक्रवार को दिल्ली (Delhi) रवाना हुए थे। दिल्ली पहुंच कमल नाथ सोनिया गांधी को 28 सीटों पर हुए उप-चुनाव के परिमाणों से अवगत करवा पार्टी संगठन में फेरबदल पर चर्चा की है। माना जा रहा है कि कमल नाथ के दिल्ली से लौटने के बाद कई बड़े पदाधिकारियों पर गाज गिर सकती है और कमल नाथ संगठन में बडे बदलाव कर सकते है।

दरअसल, दिल्ली रवाना होने से पहले कमल नाथ ने उन सभी 19 सीटों के विधानसभा प्रभारी और जिला अध्यक्षों से रिपोर्ट मांगी जिन पर कांग्रेस को हार मिली है। सभी को अपने प्रभार और जिले की सीटों पर मिली हार की रिपोर्ट तैयार कर के भेजने को कहा गया है। कार्यकर्ताओं और प्रभारी नेताओं से भी रिपोर्ट ली जाएगी। जिनमें संगठन के प्रभारी और जिला अध्यक्षों के कामकाज के बारे में जाना जाएगा। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि कुछ जिलाध्यक्ष और प्रभारी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और बीजेपी से सांठगांठ करली थी, साथ ही लेनदेन की भी खबरें आ रही है। जिसके बाद कमल नाथ ने इन पर कड़ी कार्यवाही करने का मन बनाया हुआ है।

उप-चुनाव में मिली हार और पार्टी में हुए भितरघात की खबरों पर मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता का कहना है कि 28 सीटों पर हुए उप-चुनाव में मिली हार की समीक्षा जारी है। उन्होंने बताया कि जहां-जहां शिकायतें आएंगी उसके आधार पर सभी की समीक्षा की जाएगी और उसके आधार पर कार्यवाही भी निश्चित तौर पर की जाएगी।