बड़ामलहरा के रण में हुईं बड़ी सभाएं, मंच पर क्यों रो पड़ी कांग्रेस प्रत्याशी राम सिया भारती

एक ही दिन में शिवराज, कमलनाथ, उमा, गोपाल भार्गव, अजय सिंह, अरूण यादव ने मतदाताओं को लुभाया

छतरपुर, संजय अवस्थी| मतदान की तारीख 3 नवंबर नजदीक आने के पहले ही कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP) बड़ामलहरा (Bada Malhera) के किले को जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक रही हैं। बुधवार का दिन बड़ामलहरा विधानसभा के लिए चुनावी सभाओं का दिन रहा। बड़ामलहरा में जहां पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, अरूण यादव और अजय सिंह भाजपा पर बरसे तो वहीं तीसरी बार इस विधानसभा के दौरे पर आए शिवराज सिंह चौहान ने घुवारा में सभा करते हुए जनता से वोट मांगे। इस सभा में उमा भारती और गोपाल भार्गव जैसे दिग्गज मौजूद रहे। दोनों ही सभाओं में दोनों ही दलों की ओर से लगातार उठाए जा रहे मुद्दों की पुनरावृत्ति देखने को मिली। मतदाताओं को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए दावे, वादे और बयानों के तीर चलते रहे।

भाजपा के आरोपों पर मंच से रोयीं रामसिया भारती
कमलनाथ के इस मंच पर कांग्रेस प्रत्याशी रामसिया भारती ने भी अपना संबोधन दिया। उन्होंने क्षेत्र में विकास, शिक्षा और स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की बात कही और महिलाओं पर हो रहे अत्याचार के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया। लेकिन बोलते-बोलते वे भावुक हो गयीं और रोने लगीं। रामसिया भारती ने कहा कि वे साध्वी हैं उनके खिलाफ जो प्रत्याशी है वह 35 करोड़ लेकर आया है और वे आज तक 35 हजार रूपए भी नहीं गिन पायीं। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग मुझ पर गंदे आरोप लगा रहे हैं। एक स्त्री और साध्वी पर गंदे आरोप लगाने का बदला जनता लेगी। उन्होंने कहा कि मैं यहां की बेटी हूं एक बार मौका मिला तो क्षेत्र की सेवा करूंगी। उल्लेखनीय है कि बीते रोज भाजपा जिलाध्यक्ष मलखान सिंह ने एक मीडिया इंटरव्यू में कहा था कि मैंने सुना है कि रामसिया भारती कोई साध्वी नहीं है उनकी तो शादी हो चुकी है।

रेत कारोबारी चरण सिंह कांग्रेस में शामिल
उप्र के चर्चित रेत कारोबारी और बसपा नेता चरण सिंह यादव कमलनाथ के मंच पर कांग्रेस में शामिल हो गए। चरण सिंह यादव पिछले दो महीने से बड़ामलहरा विधानसभा में सक्रिय हैं। यादव बाहुल्य विधानसभा होने के कारण यादव मतदाताओं में उनकी मजबूत पकड़ मानी जाती है। पहले बड़ामलहरा से चुनाव लडऩे को लेकर भी उनके नाम की अटकलें थीं लेकिन जब टिकिट नहीं मिली तो वे बड़ामलहरा क्षेत्र में यादव समाज की बैठकों के माध्यम से कांग्रेस के लिए काम कर रहे थे। सभा के दौरान कमलनाथ ने उन्हें कांग्रेस में शामिल किया। कांग्रेस के इस स्ट्रोक से यादव मतदाताओं को साधने की कोशिश की गई है।

हमने वोट से सरकार बनाई थी, भाजपा ने नोट से बनाई है: कमलनाथ
बड़ामलहरा में आयोजित कांग्रेस की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा कि वर्ष 2018 में आपने कांग्रेस को जो वोट दिए थे हमने उसी वोट से प्रदेश की सरकार बनाई थी लेकिन भाजपा ने नोट से सरकार बनाई है। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में जिस प्रद्युम्र लोधी को मैंने टिकिट दिया था उसको यहां के लोग और कांग्रेस के नेता भी नहीं जानते थे फिर भी मेरे कहने पर आप सभी ने उसे कांग्रेस के निशान पर जिताकर भेजा था। प्रद्युम्र को टिकिट देकर मुझसे गलती हुई। अब इस गलती को मैं ही सुधारूंगा। कमलनाथ ने कहा कि आपने प्रद्युम्र जैसा कड़वा घूंट पीकर भी भाजपा को विदा किया था इस बार रामसिया भारती  को वोट देकर विधानसभा भेजें। बड़ामलहरा के भविष्य की जिम्मेदारी मैं लेता हूं। उन्होंने भाजपा पर बिकाऊ राजनीति और सौदेबाजी के साथ सरकार बनाने के आरोप लगाए और कहा कि भाजपा ने प्रजातंत्र के उत्सव को सौदेबाजी का उत्सव बना दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here