भाजपा सोमवार को रखेगी दो घंटे मौन व्रत, वीडी शर्मा ग्वालियर में, मुख्यमंत्री भोपाल में होंगे शामिल

इमरती देवी को आइटम कहने वाले कमलनाथ के बयान पर भाजपा का विरोध

ग्वालियर, अतुल सक्सेना| पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) द्वारा प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री एवं डबरा विधानसभा से पार्टी प्रत्याशी इमरती देवी (Imarti Devi) के खिलाफ डबरा की चुनावी सभा में की गई अमर्यादित टिप्पणी के खिलाफ भाजपा (BJP) मुखर हो गई है। मुख्यमंत्री के दो घंटे के मौन व्रत की घोषणा के बाद भाजपा ने इसे प्रादेशिक कार्यक्रम बना दिया है। पार्टी नेता सोमवार 19 अक्टूबर को जिला स्तर पर दो घंटे के लिए मौन व्रत करेंगे। ग्वालियर में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा (VD Sharma) शामिल होंगे वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) भोपाल (BHopal) कार्यक्रम में शामिल होंगे।

कमलनाथ ने डबरा में पार्टी प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा में बोलते हुए भाजपा प्रत्याशी एवं प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी को आइटम कहकर अपशब्दों का इस्तेमाल किया। भाजपा ने इसे एक दलित महिला सहित प्रदेश की बहन बेटियों का अपमान कह दिया। ग्वालियर विधानसभा के बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में रविवार को शामिल होने आये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा की कमलनाथ करेंगे कि नहीं लेकिन मैं प्रायश्चित करूँगा क्योंकि मुख्यमंत्री पद पर रहा व्यक्ति कैसे किसी महिला, बहन या बेटी का अपमान कर सकता है उन्होंने मंच से ही दो घंटे के मौन व्रत की घोषणा कर दी। ग्वालियर में मुख्यमंत्री के मंच से घोषणा के बाद भारतीय जनता पार्टी ने इसे प्रादेशिक कार्यक्रम बना दिया है। पार्टी की विज्ञप्ति के मुताबिक मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री श्रीमती इमरती देवी के लिए अपशब्दों का प्रयोग करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और उनके अन्य नेताओं के खिलाफ सोमवार 19 अक्टूबर को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता 2 घंटे का मौन व्रत करेंगे । इसमें प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा सुबह 10 से दोपहर 12बजे तक ग्वालियर के फूलबाग चैराहे पर मौन व्रत पर बैठेंगे। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान भोपाल में यह मौन व्रत करेंगे। मौन व्रत के जरिए कमलनाथ और कांग्रेस पार्टी के कृत्य के विरोध का यह कार्यक्रम सभी जिला स्तर पर आयोजित किया गया है। जिसमें सांसद, विधायक, प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी सहित सभी कार्यकर्ता भाग लेंगे।