कांग्रेस पर बीजेपी का तंज- एक वचन पत्र का मुँह काला करने वालों ने 28 वचन पत्र किए जारी

लोकेंद्र पाराशर ने वचन पत्र जारी होने के तुरंत बाद ट्वीट करते हुए लिखा एक वचन पत्र का मुँह काला करने वालों ने बड़ी बेशर्मी से 28 वचन पत्र जारी कर दिए हैं।

बीजेपी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश(madhya pradesh) में कमलनाथ(kamalnath) सरकार ने आगामी 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे चुनाव के लिए 28 वचन पत्र जारी कर दिए। हालांकि अपने वचन पत्र में कमलनाथ ने प्रदेश की जनता के लिए कई बड़ी घोषणा की है बावजूद इसके बीजेपी(bjp) लगातार इस मुद्दे पर कांग्रेस(congress) पर तंज कस रही है। कांग्रेस के 28 वचन पत्र पर अब मध्य प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर(lokendra parashar) ने जमकर चुटकी ली है।

दरअसल लोकेंद्र पाराशर ने वचन पत्र जारी होने के तुरंत बाद ट्वीट(tweet) करते हुए लिखा एक वचन पत्र का मुँह काला करने वालों ने बड़ी बेशर्मी से 28 वचन पत्र जारी कर दिए हैं। वहीं उन्होंने कांग्रेस पर तंज मारते हुए कहा है कि सोचना है अब कितनी कालिख फैलेगी।

वहीं इससे पहले प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा(narottam mishra) ने भी कांग्रेस के वचन पत्र को कपट पत्र भाग-2 नाम दिया है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ वचन पत्र में 3 साल में मध्यप्रदेश का भविष्य बदलने की बात कर रहे हैं जबकि 15 महीने में कांग्रेस का भविष्य उन्होंने चौपट कर दिया। वह मध्य प्रदेश की भविष्य को क्या बदलेंगे।

इधर वीडी शर्मा ने कहा कि 15 महीनों में कांग्रेस और कमलनाथ ने कुछ नहीं किया। मध्यप्रदेश की जनता जागरुक है। उन्होंने 15 महीने के काम को देखा है। इनके कामों के बदले इन्हे सप्लीमेंट्री वचन पत्र लाना पड़ा। वचन पत्र में प्रदेशवासियों के लिए घोषणा कम और हमें कोसना ज्यादा नजर आ रहा है।

इससे पहले बीजेपी लगातार कांग्रेस एवं कमलनाथ पर तंज कसती नजर आ रही है। एमपी कांग्रेस(MP congress) ने अपने ट्विटर हैंडल से कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि कांग्रेस बेटियों के कन्यादान तक के पैसे खा चुकी है। 15 महीने के कुशासन में एक भी बेटी को कन्यादान के समय वादे के अनुसार 51 हजार नहीं मिले हैं। जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(shivraj singh chauhan) ने प्रदेश की हर बेटी का कन्यादान किया है।

बता दें कि आज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने वचन पत्र जारी करते हुए कहा कि वचन पत्र में 52 बिंदु है। जिसमें कोरोना से मृत्यु होने पर परिजनों को पेंशन सहित किसानों की कर्ज माफी की व्यवस्था का जिक्र किया गया है। वही फसल बीमा के 2,00,000 तक के चालू कर्ज जमा सहित अन्य ब्याज जैसे योजना पर कांग्रेस अमल करेगी। इस मुद्दे पर लगातार बीजेपी कमलनाथ और कांग्रेस पर आक्रामक बनी हुई है। प्रदेश में 28 सीटों पर 3 नवंबर को चुनाव होने हैं। जहां 10 नवंबर को परिणाम घोषित किए जाएंगे। इससे पहले प्रदेश के गलियों में सियासत का एक अलग ही रंग देखने को मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here