ग्वालियर, अतुल सक्सेना। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा कि जिसे एक अदने से कार्यकर्ता ने धूल चटा दी हो वो क्या किसी को धूल चटायेगा। बघेल ने चुनावी सभाएं निरस्त होने पर कहा कि भाजपा कांग्रेस की सभाएं रोक सकती है लेकिन कांग्रेस को सरकार बनाने से नहीं।

कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शुक्रवार को ग्वालियर आए। उनकी ग्वालियर और मुरैना में चुनावी सभाएं थी लेकिन प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने से सभाएं निरस्त हो गई। इसके बाद भूपेश बघेल ने पत्रकारों से बात की। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट ने ने चुनाव आयोग और प्रशासन को कोरोना के नियमों का पालन कराने के लिये कहा है लेकिन भाजपा नहीं चाहती कि कांग्रेस सभाएं करे। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा कांग्रेस की सभाएं रोक सकती है लेकिन कांग्रेस को सरकार बनाने से नहीं रोक सकती। 3 नवंबर और 10 नवंबर को इसका फैसला हो जायेगा।

भूपेश बघेल ने कहा कि मध्यप्रदेश के उप चुनाव जनता ने नहीं चाहे थे ये उपचुनाव थोपा गया है। यहाँ दो ऐसे व्यक्ति का मेल हुआ है जिनका मेल ही नहीं हो सकता था, लेकिन शिवराज सिंह कुर्सी के लिये छटपटा रहे थे। लोकसभा चुनाव हारने के बाद, ये पहली बार है जब बिना विधायक के मंत्री बना दिये गए। जनता ने जनादेश दिया था, लेकिन उसे तौला गया और कोरोना में चुनाव के लिए थोप दिया गया। कमलनाथ सरकार का बचाव करते हुए भूपेश बघेल ने कहा कि एक साल मौका मिला कांग्रेस को, कमलनाथ जी बड़े निर्णय लिए,
लेकिन जो लोग 15 महीने की सरकार से सवाल पूछ रहे हैं वो अपने 15 साल के हिसाब नहीं दे रहे हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के धूल चटाने वाले बयान पर तंज कसते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव में एक अदने से कार्यकर्ता ने जिसे धूल चटा दी वो क्या किसी को धूल चटायेंगे। हारने के बाद उनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। भूपेश बघेल ने कहा कि मैं ग्वालियर में आज कई स्थानों से गुजरा मुझे कहीं भी सिंधिया का फोटो दिखाई नहीं दिया। वे जब चुनाव से पहले ही गायब हैं तो चुनाव बाद क्या भविष्य होगा समझा जा सकता है। सिंधिया के राजनैतिक भविष्य से जुड़े सवाल पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस के बड़े नेता ने कहा कि जो कांग्रेस में नहीं खप पाया वो कब तक भाजपा में खप पायेगा ये देश देखेगा।