प्रद्युम्न तोमर के बचाव में आये सीएम, कहा- दंडवत करना भारतीय संस्कृति और भाजपा के संस्कार

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। उप चुनाव को जीतने के लिए प्रत्याशी अब जी जान लगा रहे हैं। लेकिन बयानों और वायरल वीडियो के चलते पार्टियों के नेता एक दूसरे पर हमले भी कर रहे हैं। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के दंडवत करने पर कांग्रेस के हमले के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उनके बचाव में आ गए हैं। उन्होंने ग्वालियर में कहा कि आज विनम्रता पर टिप्पणी की जा रही है कि वे घुटने टेक देते हैं दंडवत करते हैं, ये भारतीय संस्कृति और भाजपा के संस्कार हैं।

ग्वालियर जिले की ग्वालियर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के समर्थन में सभा करने कोटेश्वर महादेव मंदिर मैदान पर आये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि तुम क्या जानो जनता का दुख दर्द, तुम्हें तो वल्लभ भवन से निकलने की फुर्सत नहीं थी। उन्होंने कहा कि तुमने सिर्फ ग्वालियर की ही उपेक्षा नहीं की, पूरे मध्यप्रदेश की उपेक्षा की है। अब ग्वालियर में सड़कें भी बनेंगी, स्टेडियम भी बनेगा, विकास रुकेगा नहीं। अरे कमलनाथ ये तो ट्रेलर है पिक्चर तो अभी बाकी है। तुम्हारे पास मुद्दा नहीं है तो कभी नारियल फोड़ने की बात करते हो कभी नंगा भूखा कहते हो। विकास होगा तो नारियल भी फूटेगा अब तुम्हारी किस्मत फूटी थी तो मैं क्या करूँ।

किस्मत फूटी है नारियल तो मामा ही फोड़ेगा। मुझ से नंगे भूखे कहते है। सेठ कमलनाथ मैं गरीब घर से हूँ इसलिए गरीबों के लिए संबल और कई योजनाएं चलाई, लेकिन तुमने क्या किया? फीस भरना बंद कर दिया,संबल बंद का दी, लाडली लक्ष्मी बंद का दी, कफन के पैसे देना बंद का दिये। तुम कहते हो मैं झूठ बोलता हूं अरे तुम से बड़ा झूठा कौन हो सकेगा। एक वादा नहीं निभाया वचन पत्र का। मुख्यमंत्री ने कहा मैं साफ तौर पर कह रहा हूं फिर से संबल शुरू करूंगा। मैंने अभियान चालू किया है गरीब की थाली खाली नहीं रहने दूंगा। वल्लभ भवन दलालों की मंडी बना दिया था। प्रद्युम्न या कोई मंत्री विधायक विकास के लिए पैसा मांगने जाता था तो कहते थे पैसा नहीं होने का रोना रोते थे। हमें रोतीला मुख्यमंत्री नहीं चाहिए। मुख्यमंत्री हो तो व्यवस्था करो। मुख्यमंत्री ने फिर कहा कि कितनी भी विपरीत परिस्थिति हो वैक्सीन उपलब्धता हो जाने दो फ्री में लगवाएंगे। शिवराज सिंह ने कहा कि गद्दारी तुमने की है कमलनाथ इसलिए ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रद्युम्न सिंह एवं उनके साथियों ने तुम्हे धूल चटाई है। उन्होंने कहा कि मप्र की जनता के साथ अन्याय नहीं होने दूंगा।

प्रद्युम्न के बचाव में आये मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के जनता और कांग्रेस कार्यकर्ता के पैरों में गिरने पर उनका बचाव करते हुए कहा कि प्रद्युम्न विनम्र हैं शालीन हैं। अब इनकी विनम्रता पर ही टिप्पणियां की जा रही हैं ये घुटने टेक देते हैं, दंडवत करते हैं ये भारतीय संस्कृति भारतीय जनता पार्टी के संस्कार हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रद्युम्न यहाँ से चुनाव लड़ रहे हैं वे सेवक हैं और मुझे विश्वास है कि विकास कार्यों के आधार पर जनता हमें जिताएगी ।

दिग्विजय सिंह के ट्वीट का प्रद्युम्न ने दिया जवाब

ग्वालियर विधानसभा से चुनाव लड़ रहे भाजपा प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कांग्रेस कार्यकर्ता के पैरों में गिरने वाले वीडियो के बाद दिग्विजय सिंह के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि अपनी गलती स्वीकारना कोई अपराध है क्या? पर आज कांग्रेस की संस्कृति में पले बढे जिन्होंने ट्वीट किया है वो माननीय जो अपने आप को बड़ा चतुर राजनीतिक खिलाड़ी मानते हैं, दिग्विजय सिंह जी ने कहा कि मैं लोगों के चरणों में लेट जाता हूँ ये मेरा अपराध है। अगर अपराध है तो मैं दिग्विजय सिंह जी से कहना चाहता हूँ कि ये सेवक जनता जनार्दन के चरण ही नहीं चरणों की धूल लगाकर इस माटी को प्रणाम करेगा। उन्होंने कहा कि जनता के सम्मान के लिए जब भी इस सेवक को जरूरत पड़ी तो दम्भी अहंकारी कमलनाथ के सामने सीना खोलकर लड़ने को तैयार था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here