शिवराज बोले, कांग्रेस बहुत मायावी है, इसके भ्रम और बहकावे में मत आना

किसानों से बोले शिवराज-चिंता मत करना कमलनाथ जी ने आपके सिर पर ब्याज की जो गठरी रखी है, उसे मैं उतारूंगा

मुरैना, संजय दीक्षित| उपचुनाव (Byelection) की जंग अब अंतिम पड़ाव पर है, बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) अंतिम समय में पूरी ताकत झोंक रही है| वहीं जुबानी हमले भी तेज हो रहे हैं| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh CHauhan) और पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) के बीच जबरदस्त तल्खी देखने को मिल रही है| शिवराज ने एक बार फिर मंच से कमलनाथ को कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला|

मुरैना जिले में आयोजित सभा में शिवराज सिंह ने कहा कांग्रेस बहुत मायावी है, जनता को माया से छलने का काम करती है। मेरे भाइयों-बहनों, इसके भ्रम और बहकावे में मत आइयेगा। हमने जो वादा किया, उसे सदैव निभाया है। कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कमलनाथ जी आज चंबल की जनता आपसे पूछती है, आपने चम्बल प्रोग्रेस वे का कार्य क्यों ठंडे बस्ते में डाल दिया? क्या चंबल क्षेत्र की जनता से आपकी कोई दुश्मनी थी| जब भी विकास के कार्यों की बात आती थी, तो कमलनाथ जी पैसों का रोना रोने लगते थे।

शिवराज ने कहा कमलनाथ ने किसानों का कर्जा माफ किया नहीं, उलटे जो कर्ज 0% ब्याज पर मिलता था, उनके राज में 18 प्रतिशत पर मिलने लगा था। कई किसान डिफाल्टर हो गये। कमलनाथ जी ने आपके सिर पर ब्याज की जो गठरी रखी है, उसे मैं उतारूंगा, चिंता मत करना। वहीं उन्होंने नारियल को लेकर बयानबाजी पर फिर निशाना साधा| सीएम शिवराज ने कहा कमलनाथ जी को मेरे नारियल फोड़ने से दिक्कत है। विकास के कार्य होंगे तो नारियल तो फूटेंगे ही! आपकी किस्मत ही फूटी थी तो आपको नारियल फोड़ने का मौका नहीं मिला|

शिवराज ने कहा जितनी भी जनकल्याणकारी योजनाएँ थीं, वो कमलनाथ जी ने सारी बंद करवा दीं। गरीब जनता को लाभ से वंचित कर दिया गया था। हमने सरकार बनते ही सारी योजनाएँ पुनः चालू की। सीएम चौहान ने कहा मेरे किसान भाइयों, आपके धान और बाजरे का एक-एक दाना हम समर्थन मूल्य पर खरीदेंगे। किसानों का कल्याण ही मेरे जीवन का प्रमुख ध्येय है।