हाटपिपल्या में दिखी कांग्रेस की गुटबाजी, पूर्व मंत्री के वीडियो हुए वायरल

हॉटपिपल्या विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस आरम्भ से ही एकजुट दिखने का प्रयास कर रही थी। यहाँ तक कि ऐसा पहली दफ़ा हुआ जब जिले की राजनीति के दो धुर विरोधी गुट भी साथ नजर आने लगे थे।

देवास/हाटपिपल्या, सोमेश उपाध्याय। हाटपिपल्या विधानसभा उपचुनाव (Assembly by-election) में कांग्रेस(congress) आरम्भ से ही एकजुट दिखने का प्रयास कर रही थी। यहाँ तक कि ऐसा पहली दफ़ा हुआ जब जिले की राजनीति के दो धुर विरोधी गुट भी साथ नजर आने लगे थे।

दरअसल हाटपिपल्या से कांग्रेस प्रत्याशी कुवर राजवीर सिंह बघेल (rajvir singh baghel) के पिता व पूर्व विधायक     ठा.राजेन्द्र सिंह बघेल, पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (digvijay singh) के कट्टर समर्थक माने जाते थे। वही पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (sajjan singh verma) कमलनाथ गुट के होने से परस्पर एकदूजे के विरोधी रहे है। लेकिन इस बार दोनों विरोधी गुट एक साथ कांग्रेस के लिए लगे। परन्तु आज की सभा में ठा.राजेन्द्र सिंह बघेल व सज्जन सिंह वर्मा के बीच की दूरी नजर आई। राजनीतिक चालों में माहिर सज्जन सिंह वर्मा ने पूरी सभा के दौरान अपना वर्चस्व कायम रखा। कांग्रेस प्रत्याशी अपने पिता का भाषण करवाना चाहते थे, परन्तु ऐनवक्त पर वर्मा ने खुद माइक पकड़ आमंत्रितों को बुलाना शुरू कर दिया। प्रत्याशी बघेल द्वारा अनुरोध करने पर उन्होंने समय का हवाला देकर टाल दिया।

यह बातें भरी सभा में हजारों कांग्रेसियों ने देखी। ख़बर यह भी है कि अपनी दबंग छवि के लिए चर्चित बघेल ने यह शिक़ायत खुद कमलनाथ से भी की। उपचुनाव के आखिरी समय में कांग्रेस में उभर कर आ रहे इस अंदरुनी कलह के कारण कांग्रेस की स्थिति बिगड़ते देर न लगेंगी। वही पहले से इस स्थिति का फायदा उठाने का मन बना चुकी भाजपा ने भी वीडियो वायरल करने में देरी नहीं की। पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा व ठाकुर बघेल की नाराजगी और मंच पर ही कांग्रेस प्रत्याशी राजवीर और वर्मा की चर्चा के दो वीडियो वायरल हो चुके है। अब कांग्रेस इस कलह को कितना खत्म कर पाएगी यह तो आने वाला समय ही बता पाएंगा, लेकिन आज के घटनाक्रम के बाद नई राजनीतिक चर्चाएं जरुर शुरू हो गई है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here