चुनाव आयोग की कमलनाथ को ‘आयटम’ पर सलाह, कहा- भाषा का रखे ख्याल

मध्यप्रदेश में विधानसभा उपचुनावों को लेकर चुनाव प्रचार जोरों पर है। वहीं उपचुनाव से पहले नेता अपनी मर्यादा भूलकर विवादित बयान देने से भी नहीं चूक रहे हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में विधानसभा उपचुनावों (Assembly by-elections) को लेकर चुनाव प्रचार जोरों पर है। वहीं उपचुनाव से पहले नेता अपनी मर्यादा भूलकर विवादित बयान देने से भी नहीं चूक रहे हैं। उपचुनाव में जीत के लिए बेताब भाजपा (bjp) और कांग्रेस (congress) दोनों ही दलोंं के नेता सभाओं और रैलियों में अपनी जुबान पर संयम नहीं रख पाए और भाषणों में अभद्र भाषा का प्रयोग और विवादित बयानबाजी खूब हुई। पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा प्रदेश की मंत्री और डबरा से भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी (imarti devi) को ‘आयटम’ (iteam) कहने वाला बयान सबसे ज्यादा चर्चा में रहा। भाजपा के अलावा कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी (rahul gandhi) ने भी कमलनाथ के इस बयान की निंदा की थी। वहीं अब इस मामले में चुनाव आयोग (Election commission) ने भी कमलनाथ को ‘आयटम’ पर सलाह दी है।

दरअसल शिवराज सरकार की मंत्री इमरती देवी को आइटम कहने वाले बयान पर चुनाव आयोग ने कमलनाथ (kamalnath) को जवाब तलब किया था। जिसके बाद कमलनाथ की ओर से पेश किए गए जवाब में उन्होंने कहा था कि उनकी मंशा आइटम शब्द का इस्तेमाल करने में किसी महिला के सम्मान को ठेस पहुंचाना नहीं था। कमलनाथ के इस जवाब का परीक्षण करने के बाद आयोग ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्हें हिदायत दी है। चुनाव आयोग ने उन्हें संभलकर बोलने की सलाह देते हुए कहा है कि चुनाव प्रचार के दौरान भाषा का ख्याल रखना चाहिए।

गौरतलब है कि कमलनाथ के आयटम वाले बयान पर खूब राजनीति हुई थी। सीएम शिवराज बयान के विरोध में मौन व्रत पर बैठ गए थे। वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी भी कमलनाथ के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बता चुके हैं। हालांकि कमलनाथ अपने बयान पर खेद जरूर जता चुके हैं लेकिन उन्होंने माफी मांगने से साफ मना कर दिया था।