डबरा, सलिल श्रीवास्तव। इमरती देवी सुमन के कमलनाथ द्वारा विधायकों को पाँच पाँच लाख रुपए महीना देने के बयान पर पलटवार करते हुए उन्हें ही कटघरे में खड़ा कर दिया। पलटवार करते हुए इमरती देवी ने कहा कि वह जांच करा लें कि विधायकों को पांच पांच लाख रूपया किसको दिए जाते थे। वहीं बीजेपी के रथ में सिंधिया की फोटो नहीं होने पर उन्होने कहा कि इस बात पर कांग्रेस को क्यों बुखार आ रहा है।

इमरती देवी ने कहा कि संतराम सिरोनिया, कमलेश , रणवीर और पोहरी के विधायकों का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे साथ जो विधायक आए हैं वही इस बात की पुष्टि कर देंगे। कमलनाथ जी मेरे आगे क्या झूठ बोलेंगे। कमलनाथ के डबरा में आमसभा में आने के बयान पर उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी डबरा में दौरे पर ना आएं बल्कि वह 3 तारीख तक यही डेरा डाल लें, तब मैं उनकी ताकत समझूंगी। नहीं तो उन जैसे कई मेरे पीछे कई घूमते रहते हैं। जब पत्रकारों ने चुनावी रथ से सिंधिया के गायब होने के प्रश्न पर उनसे जवाब चाहा तो उन्होंने बड़ी सफ़ाई से जवाब देते हुए कहा कि हमारी पार्टी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, वही तय करेंगे कि किसका फोटो होना चाहिए, कांग्रेसियों को इससे क्या लेना देना है।

फिलहाल डबरा विधानसभा में चुनावी रंग पूरी तरह से चढ़ चुका है भाजपा और कांग्रेस पूरी ताकत से प्रचार प्रसार में जुट चुकी है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र भी पूरी ताकत के साथ इमरती देवी को जिताने के लिए बैठक और जनसभाएं भी ले रहे हैं। लेकिन इस बार मुकाबला कड़ा होता दिख रहा है, जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा यह तो आने वाले समय में ही स्पष्ट हो सकेगा।