फिर विवादों में घिरी इमरती देवी, कहा- भाड़ में जाए पार्टी

बयान पर उठे बवाल के बाद मंत्रीजी ने दी सफाई

imarti

डबरा, सलिल श्रीवास्तव। इमरती देवी (imarti devi) एक बार फिर विवादास्पद बयान (controversial statement) देकर फंसती नजर आ रही है। शुक्रवार को वे चुनाव प्रचार के लिए डबरा विधानसभा के मसूदपुर गांव पहुंची थीं। वहां केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ उनका एक कार्यक्रम था। मसूदपुर से लौटते हुए इमरती देवी ने कुछ ऐसा कह दिया, जिसके बाद उन्हें अपने ही बयान पर सफाई देनी पड़ रही है।

वापसी में इमरती देवी को कुछ किसानों ने घेर लिया जो धान का वाजिब मूल्य न मिलने के कारण पिछले कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। धान का समर्थन मूल्य 1900 रूपये होने के बावजूद उन्हें 13-14 सौ रूपये ही मिल रहे है। ये मुद्दा फिलहाल डबरा क्षेत्र में काफी गर्माया हुआ है और इसे लेकर किसान काफी नाराज हैं। इमरती देवी को अपने बीच देखकर किसानों ने उनसे बात शुरू की जिसके बाद मंत्रीजी ने कहा कि मैं पूरी तरह डबरा के किसानों के साथ हूं और मैं किसानों के लिए लड़ती रहूंगी। यहां तक तो ठीक था, लेकिन इसी बीच किसी ने पार्टी की बात की तो इमरती देवी ने कहा “भाड़ में जाए पार्टी।”

इस बात को लेकर बवाल खड़ा हो गया और लोगों के बीच चर्चा आम हो गई कि इमरती देवी ने बीजेपी को कहा है कि भाड़ में जाए पार्टी। लेकिन कुछ ही समय बाद इमरती देवी अपने बयान पर सफाई देती नजर आई। उनका कहना है कि वहां कांग्रेस के कुछ लोग भी किसानों के साथ थे जो कांग्रेस पार्टी की बात कर रहे थे। उन्होने पार्टी की बात कही तो मैने कांग्रेस को लेकर कहा था कि पार्टी भाड़ में जाए। इमरती देवी ने कहा कि मैं बीजेपी की तरफ से चुनाव लड़ रही हूं मैं भारतीय जनता पार्टी की पूजा करती हूं, मैं क्यों उसे कुछ कहूंगी। बहरहाल, मंत्रीजी अब कितनी भी सफाई दे लेकिन तीर तो कमान से निकल चुका है और एक बार फिर वो विवादों में घिर गई हैं।