उपचुनाव में प्रभुराम चौधरी ने दर्ज की सबसे बड़ी जीत, बनाया रिकार्ड

डॉ प्रभुराम चौधरी को 116577 वोट मिले तो कांग्रेस प्रत्याशी मदनलाल चौधरी 52768 वोट मिले

रायसेन डेस्क। मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) के रायसेन जिले की साँची विधानसभा (Sanchi Assembly ) में हुए उपचुनाव में भाजपा के प्रत्याशी डॉक्टर प्रभुराम चौधरी (Prabhuram Chaudhary) ने कांग्रेस प्रत्याशी मदनलाल चौधरी (Madan Lal Chaudhary) को करीब 64 हजार मतों से हराकर जीत दर्ज की| प्रभुराम चौधरी ने कांग्रेस प्रत्याशी को 63809 मतों से हराकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। 28 सीटों के उपचुनाव (Byelection) में यह सबसे बड़ी जीत है|

डॉ प्रभुराम चौधरी को 116577 वोट मिले तो कांग्रेस प्रत्याशी मदनलाल चौधरी 52768 वोट मिले। बताया जा रहा है कि जब से सांची विधानसभा सीट अस्तित्व में आई है तब से लेकर आज तक इस सीट पर कभी इतनी बड़ी जीत दर्ज नहीं की गई है। आज सुबह जब मतगणना की गिनती शुरू हुई तो हर तरफ दोनों ही पार्टियों के समर्थकों का जमावड़ा देखने को मिल रहा था और दोनों ही पार्टियों के समर्थक अपने-अपने प्रत्याशियों की जीत के दावे कर रहे थे। लेकिन जैसे ही मतों की गिनती शुरू हुई उसके बाद डॉक्टर प्रभुराम चौधरी ने जो इतिहास रचा उसे एक बड़ी जीत में बदल दिया|

अपने ही गाँव में हार गए कांग्रेस प्रत्याशी
मदनलाल चौधरी अपने ही ग्राम हरदोट की पोलिंग भी नही जीत पाये। सांची विधानसभा में भी कांग्रेस ने बिकाऊ और टिकाऊ के मुद्दे को भुनाने की कोशिश की, लेकिन डॉक्टर प्रभुराम चौधरी ने सारे आरोपों पर विराम लगाते हुए भारी अंतर से जीत दर्ज की|

भितरघात पूरी तरह फेल
बता दें भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व कैबिनेट मंत्री डॉ गौरीशंकर शेजवार एवं उनके बेटे मुदित शेजवार पर यह आरोप लगते रहे कि वह पार्टी के विरोध में काम कर भितरघात कर रहे हैं और उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी प्रभुराम चौधरी को नुकसान हो सकता है| इसको लेकर कुछ भाजपा कार्यकर्ताओं ने गौरीशंकर शेजवार और बेटे मुदित शेजवार की आलाकमान से शिकायत भी की थी जिसको लेकर उन्हें पार्टी ने नोटिस भेज जवाब मांगा था| फ़िलहाल सांची में प्रभुराम चौधरी के लिए भितरघात पूरी तरह फेल होते दिखाई दिया और उन्होंने ऐतिहासिक जीत दर्ज की।

जनता की जीत, संगठन की जीत है
इस दौरान डॉक्टर प्रभुराम चौधरी ने कहा कि यह आम जनता की जीत है,संगठन की जीत है, और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा किए गए विकास कार्यों की जीत है,उन्होंने इस जीत का श्रेय शिव-ज्योति एक्सप्रेस को भी दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here