ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कौन है ‘काला कौवा’, देखिये वीडियो

सिंधिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा एक कहावत है 'झूठ बोले कौवा काटे, काले कौवे से डरियों'...मैं काला कौवा हूँ| सिंधिया का खुदको कला कौवा कहने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है

karera-scindia

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| उपचुनाव (By-election) की जंग में नेताओं के नए-नए अंदाज देखने को मिल रहे हैं| भाषण में नए नए शब्द जो अब तक लोग बोलने से बचते थे, लेकिन अब खुलकर एक दूसरों के लिए उन शब्दों के वाण छोड़े जा रहे हैं| जुबानी जंग में गद्दार, बफादार, जयचंद, साधु-शैतान, राक्षस-रावण के बाद अब काले कौवे की एंट्री हुई है| बीजेपी नेता व राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने खुद को काला कौवा (Black Crow) बताया है|

दरअसल, शिवपुरी जिले की करैरा विधानसभा में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने खुद को कला कौवा बताया| उन्होंने कांग्रेस पर मुहावरे के जरिये निशाना साधते हुए कहा एक कहावत है ‘झूठ बोले कौवा काटे, काले कौवे से डरियों’…मैं काला कौवा हूँ| सिंधिया का खुदको कला कौवा कहने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है|

गौरतलब है कि उपचुनाव को लेकर सिंधिया लगातार ग्वालियर चम्बल क्षेत्र में सभाएं कर रहे हैं| इस उपचुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया की साख भी दांव पर है| प्रत्याशियों की जीत के सिंधिया एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं और अपने भाषणों से कांग्रेस और कमलनाथ पर हमले बोल रहे हैं| इसी क्रम में उन्होंने रविवार को शिवपुरी जिले के करैरा और पोहरी में भाजपा के मंडल स्तर के सम्मेलनों को संबोधित किया। सिंधिया ने कहा कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री भले ही कमलनाथ थे, लेकिन सरकार का नियंत्रण दिग्विजय सिंह के पास था और परदे के पीछे से वे ही सरकार चला रहे थे। उस समय हालत यह थी कि कमलनाथ भोपाल स्थित राज्य मंत्रालय वल्लभ भवन से बाहर नहीं निकलते थे। सिंधिया ने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार में उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया जाता था। उन्होंने विकास कार्यों के लिए सड़क पर उतरने का कहा, तो भी नहीं सुना गया। इसके बाद सरकार सड़क पर आ गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here