उपचुनाव 2020 : कमलनाथ का तंज -अब प्रश्न हारने का नहीं, हर सीट पर कितने से हारने का है

कमलनाथ का कहना है कि मैं आज शनिवार (Saturday) को आगर और हाटपिपलिया (Hatpipliya) के दौरे पर जा रहा हूँ , मैं रविवार (Sunday) को भी प्रचार पर जाऊंगा। मुझ पर प्रचार की कोई रोक नहीं लगी है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh by-election) की 3 नवंबर (3 November) को वोटिंग (Voting) और रिजल्ट (Result) के पहले पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ (Kamal Nath) पर चुनाव आयोग की कार्रवाई से सियासी हलचल तेज हो चली है। चुनाव आयोग (Election Commission) के इस एक्शन के खिलाफ कांग्रेस (Congress) में गुस्सा है और वो सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) जाने की तैयारी में है, इससे पहले कमलनाथ का बड़ा बयान सामने आया है।

कमलनाथ का कहना है कि मैं आज शनिवार (Saturday) को आगर और हाटपिपलिया (Hatpipliya) के दौरे पर जा रहा हूँ, मैं रविवार (Sunday) को भी प्रचार पर जाऊंगा। मुझ पर प्रचार की कोई रोक नहीं लगी है। BJP का पूरा प्रयास चल रहा है, वे तड़प रहे हैं, अब प्रश्न उनके हारने का नहीं है, अब तो प्रश्न हर सीट पर कितने से हारने का बचा है।

इंदिरा जी के कहे शब्द आज भी कान में गूंजते है

आज कांग्रेस कार्यालय में मीडिया से चर्चा करते हुए कमलनाथ ने कहा कि आज  स्व.इंदिरा गांधी जी (Indira Gandhi) की  पुण्यतिथि  और  स्व. सरदार वल्लभ भाई पटेल जी (Sardar Vallabh Bhai Patel) की जयंती है, दोनों के श्री चरणों में श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूँ। इंदिरा जी से मेरा संपर्क उस समय का है, जब मैं काफी छोटा था।उनकी दी गई सीख और उनके कहे गए शब्द आज भी मेरे कानों में गूंजते हैं, उनसे मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला।उनकी दी गई सीख आज भी मेरे लिए अमूल्य धरोहर है।

जीवन में कई चुनाव लड़े और लड़वाएं

कमलनाथ ने कहा कि मैंने अपने लम्बे राजनीतिक जीवन (Political Life) में देश-प्रदेश में कई चुनाव देखें , कई चुनाव लड़े , कई लड़वाये। मैं जानता हूँ कि विरोधी दल की क्या परिस्थिति होती है, जब वह हार रहे होते हैं, एक स्थिति होती है जब वह पीट रहे होते हैं। तब वो प्रशासन (Administration) का, पुलिस (Police) का, शराब का, पैसे का उपयोग करना शुरू कर देते हैं।

 जनता देगी मुंह तोड़ जवाब

नाथ ने कहा कि मुझे मध्य प्रदेश (MP) के मतदाताओं (Voters) पर पूरा विश्वास है, मुझे पूरा भरोसा है कि मध्य प्रदेश के मतदाता और इन 28 सीटों के जागरूक मतदाता मध्यप्रदेश का भविष्य सुरक्षित रखेंगे। हमारे प्रजातंत्र और संविधान की रक्षा करेंगे। किस प्रकार यह सौदेबाज़ी की व बिकाऊ सरकार बनी है, जनता यह सच्चाई समझती है और जनता इनको मुंहतोड़ जवाब देगी।

मेरी आवाज़ को रोकने और दबाने का प्रयास

इससे पहले शुक्रवार देर शाम को ट्वीट कर कमलनाथ ने चुनाव आयोग की कार्रवाई पर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। कमलनाथ ने लिखा था कि अब जनता फ़ैसला करेगी। मेरी आवाज़ को रोकने का, दबाने का प्रयास है। कांग्रेस की आवाज़ को कुचलने का प्रयास है। सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं। जनता सच्चाई का साथ देगी।