MP Byelection 2020: एपिसेंटर में 95 बूथ संवेदनशील घोषित, स्टैडिंग कमेटी की बैठक हुई संपन्न

मध्यप्रदेश उपचुनाव (MP Byelection 2020) को लेकर आज संवेर (sanwer) में स्टैडिंग कमेटी (Standing committee) की बैठक आयोजित की गई। सांवेर विधानसभा उपचुनाव को निर्वाचन के संबंध मे चुनाव (election) से संबंधित सभी जानकारियां दी गई। साथ ही विधानसभा के 95 बूथ को संवेदनशील घोषित किया गया है।

MP Byelection 2020 95 booths declared sensitive in Epicenter

इंदौर,आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश उपचुनाव (MP Byelection 2020) की सबसे प्रतिष्ठापूर्ण सीट सांवेर (sanwer) को लेकर प्रदेशभर में चर्चा जोरों पर है और यही जुबानी जंग की राजनीतिक मर्यादाये टूटती भी नजर आ रही है। दरअसल, यहां सिंधिया समर्थक तुलसी सिलावट (tulsi silawat) और दिग्गज नेता प्रेमचंद गुड्डू (premchand guddu) आमने सामने है। लिहाजा, राजनीतिक छींटाकशी की कोई कसर दोनों ही प्रमुख दल बीजेपी और कांग्रेस के नेता नही छोड़ रहे है।

ऐसे में अब चुनाव निष्पक्ष (fair election) और पारदर्शी तरीके से संपन्न कराए जाए, ये एक बड़ी चुनौती इंदौर (indore) में जिला प्रशासन के लिए है। इसी को ध्यान में रखते हुए नामांकन (nomination) के आखरी दिन जिला प्रशासन ने निर्वाचन संबंधी एक बैठक ली, जिसमें राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों सहित निर्वाचन (Election) से जुड़े अधिकारी शामिल थे।

ये भी पढ़े- कांग्रेस पर जमकर बरसे बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा , कहा- दिग्विजय सिंह देश के सबसे बड़े जयचंद

इस अहम बैठक में सांवेर विधानसभा उपचुनाव (MP Byelection 2020) को निर्वाचन के संबंध मे चुनाव से संबंधित सभी जानकारियां दी गई। वही सांवेर विधानसभा के 95 बूथ (booth) को संवेदनशील घोषित किया गया। हालांकि संवेदनशील बूथों की संख्या राजनीतिक दलों की शिकायत और सुझाव के आधार पर बढ़ाई जा सकती है।

बता दें कि मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव (MP Byelection 2020) होना है और 3 नवंबर को मतदान (voting) होना है। ऐसे में सांवेर विधानसभा उपचुनाव को लेकर इंदौर निर्वाचन अमला (Indore Election Staff) पूरी तरह से इलेक्शन मोड़ में है। स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में चुनावी गतिविधियों के साथ साथ, स्क्रूटनी, नाम वापसी,सिम्बल अलाटमेंट, सहित अन्य मुद्दों को लेकर चर्चा की गई।

बैठक के बाद इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह (Indore Collector Manish Singh) ने बताया कि समय समय पर बैठक होना चाहिए ताकि सभी के सवाल और दिक्कतों का पता चल सके औए चुनाव आयोग की गाइडलाइंस के बारे में भी जानकारी दी जा सके। उन्होंने बताया कि 20 अक्टूबर की शाम को वोटर लिस्ट दी जाएगी।

वही डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया कि लगभग 95 के आसपास क्रिटिकल बूथ है, जिसकी लिस्ट सभी राजनीतिक दलों को प्रदान की जाएगी है। अगर कोई और बूथ को भी संवेदनशील घोषित करने की जरूरत है तो उस पर भी विचार कर फैसला किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here