MP byelection 2020 – असंतुष्ट नेताओं को मनाने की संघ ने ली जिम्मेदारी

मध्यप्रदेश उपचुनाव 2020 (MP byelection2020) में भाजपा को जिताने के लिए बीजेपी के नाराज और असंतुष्ट नेताओं को मनाने का जिम्मा अब संघ ने ले लिया है, जिसके लिए सुबह शाम के संघ की टीम काम कर रही है।

MP byelection 2020 - Sangh takes responsibility of persuading dissent leaders

मंदसौर, तरुण राठौर । मध्यप्रदेश उपचुनाव 2020 (MP byelection2020) में सुवासरा विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव की बिसात बिछ चुकी है। साथ ही दोनों ही पार्टी के प्रत्याक्षी हरदीपसिंह डंग (Hardeep Singh Dang) और राकेश पाटीदार (Rakesh Patidar) ने अपना नामांकन (Enrollment) भर दिया है, मध्यप्रदेश उपचुनाव 2020 (MP byelection2020) में जीत को लेकर जो रिपोर्ट सामने आ रही है। उसकी घबराहट भाजपा (bjp) में साफ देखी जा रही है, जिसमें केंद्रीय स्तर से लेकर राज्य स्तर के बड़े नेता क्षेत्र के नेताओं को मनाने के लिए सम्मेलन ले रहे है।

परंतु उसके बाद भी क्षेत्रीय नेता की नाराजगी खत्म नहीं हुई है और अब हालत को सुधारने की जिम्मेदारी संघ ने ले ली है, ताकि जो रिपोर्ट क्षेत्र से आ रही है उसे बदलकर शिवराज सरकार (shivraj government) के पक्ष में कर सके। इसके लिए संघ के कार्यकर्ता क्षेत्र के बुध स्तर तक नेताओं की नारजगी दूर करेंगे। साथ ही क्षेत्र में हरदीपसिंह के लिए जीत का माहौल तैयार करेंगे।

ये भी पढ़े- सुहास भगत बोले, देशभर में कांग्रेस बनाना चाहती थी अराजकता का माहौल

संघ के कार्यकर्ता गांव – गांव जाकर लोगों से मिलेंगे, ताकि भाजपा हारी हुई बाजी जीत सके। क्योंकि अभी भाजपा के कार्यक्रम जो स्थानीय नेता दिख रहे है, वह दिख तो रहे है पर उनमें वह उत्साह नजर नहीं आ रहा है। जो चुनाव के समय कार्यकर्ता में नजर आता है क्योंकि जो प्रत्याशी इस समय क्षेत्र से लड़ रहा है कभी वही प्रत्याक्षी उनकी पार्टी कि बुराई करते नहीं थकता था।

आज वहीं उनका सरताज बनके बैठा। ऐसे में उन कार्यकर्ता के मन असन्तोष है। उससे ही दूर करने के लिए शिवराज (Shivraj) से लेकर राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कार्यकर्ता सम्मेलन किया पर क्षेत्रीय नेताओं का असन्तोष खत्म नहीं हुआ, जिसका जिम्मा संघ ने उठाया और इसके लिए उन्होंने टीम तैयार कर ली है। निर्देश मिलने के बाद विधानसभा क्षेत्र में पहुंच गई है। अब काम भी करने लगे है, उन्हें पता है कि काम कठिन है और समय बहुत कम है इसलिए संघ की टीमें सुबह से लेकर शाम तक कार्य कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here