पूर्व मंत्री के 50 करोड़ के ऑफर के खुलासे से गरमाई सियासत, बीजेपी पहुंची चुनाव आयोग

कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने खुलासा किया है ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उन्हें 50 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर दिया था, लेकिन उन्होंने सबको ठुकरा दिया था और कांग्रेस में ही रहने का फैसला लिया था

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) की 28 सीटों पर उपचुनाव (Byelection) के लिए 3 नवंबर को मतदान (Voting) होना है| रविवार को प्रचार की समय सीमा ख़त्म हो रही है| प्रचार ख़त्म होने के एक दिन पहले पूर्व मंत्री व कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार (Umang Singhar) के बयान से प्रदेश की सियासत गरमा गई है| सिंघार ने शनिवार को खुलासा किया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने मुझे 50 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर दिया था। उन्होंने कहा यह कोई आरोप नहीं बल्कि सच्चाई है। इसको लेकर अब भाजपा (BJP) अब चुनाव आयोग (Election Commission) पहुँच गई है|

चुनाव प्रबंधन समिति सह संयोजक भगवानदास सबनानी के नेतृत्व में भाजपा प्रतिनिधि मण्डल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मिलकर उमंग सिंह के आरोपों की शिकायत की है| बीजेपी ने कांग्रेस नेता के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है| बीजेपी नेता ने कहा कांग्रेस लगातार झूठ पर झूठ बोल रही है| कभी 35 करोड़, कभी 70 करोड़ और आज 50 करोड़ो की बात कहने के लिए एक चेहरा आगे कर दिया| मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से हमने इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है|

सिंघार का खुलासा, सिंधिया ने दिया था 50 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर
दरअसल, कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री उमंग सिंघार (Umang Singhar) ने खुलासा किया है उन्हें भी 50 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर दिया गया था, लेकिन उन्होंने सबको ठुकरा दिया था और कांग्रेस में ही रहने का फैसला लिया था। आज दोपहर धार (Dhar) में पत्रकार वार्ता में सिंघार ने कहा कि मैंने कल ही एक सभा में कहा था कि मुझे भी भाजपा द्वारा ऑफर दिया गया था, तो भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा (VD Sharma) ने मुझे चुनौती दी थी कि ऑफर देने वाले के नाम का खुलासा करो, इसीलिए आज मैं वह नाम सबके सामने कह रहा हूं कि मुझे ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने 50 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर दिया था

यह भी पढ़ें: उमंग सिंघार का खुलासा- ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिया था 50 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर

कमलनाथ के चुनाव प्रचार की शिकायत
इसके अलावा बीजेपी ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के चुनाव आयोग द्वारा आदेश के बाद भी चुनावी सभाएं करने के मामले में आपत्ति जताते हुए चुनाव आयोग से शिकायत की है| बीजेपी नेता सबनानी ने कहा कमलनाथ को स्टार प्रचारक का दर्जा वापस ले लिया इसके बावजूद हाटपिपल्या और आगर विधानसभा में वे पूरे प्रोटोकॉल के साथ घूमे, स्टार प्रचारक की भूमिका में घूमे हैं, जबकि प्रशासन को उन्हें रोकना चाहिए था, नए सिरे से अनुमति लेकर अपने साधन के साथ उन्हें चुनाव प्रचार करना चाहिए था| लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया| इस सम्बन्ध में चुनाव आयोग से शिकायत की गई है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here