कमलनाथ पर फिर बरसे शिवराज, बोले- तुम्हारी अमीरी तुम्हें मुबारक, हम नंगे भूखे ही अच्छे

मध्य प्रदेश में चुनावी संग्राम इन दिनों चरम पर है। राजनेता एक दूसरे पर जमकर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व सीएम कमलनाथ के बीच भी जुबानी जंग तेज हो गई है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में चुनावी संग्राम इन दिनों चरम पर है। राजनेता एक दूसरे पर जमकर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) और पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) के बीच भी जुबानी जंग तेज हो गई है। किसी भी जनसभा में पहुंचने पर दोनों ही दिग्गज नेता एक दूसरे पर जमकर बरस रहे हैं। ऐसे ही एक बार फिर राजगढ़ (Rajgarh) में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा है कि कमलनाथ जी आपने कभी किसान और गरीब का दर्द नहीं समझा। आप उद्योगपति हैं, आपको महलों में रहने की आदत है। हम गरीब का दर्द समझते हैं, उनके लिए योजनाएँ बनाते हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को राजगढ़ जिले में ब्यावरा विधानसभा क्षेत्र के सुठालिया पहुंचे थे। यहां जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कांग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा। सीएम शिवराज ने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश का विकास करती है तो कांग्रेस के लोगों को दर्द होता है। मुझे कहा जाता है कि मैं नारियल जेब में लेकर घूमता हूं, लेकिन नारियल वो फोड़ता है जो विकास करता है, कमलनाथ तुम्हारी तो किस्मत ही फूटी थी, जो नारियल नहीं फोड़ पाए। ये सवा साल का उनके पापों का घड़ा है, जिसे सिंधिया (Scindia) जी ने फोड़ दिया। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कमलनाथ जी, पत्रकारों से ही अकड़ गए। मैं शिवराज थोड़ी हूँ, जो आपके पास आऊंगा। ये अहंकार से भरे लोग है।

हम नंगे भूखे ही अच्छे, तुम्हारी अमीरी तुम्हें मुबारक
इस दौरान सीएम शिवराज ने कांग्रेस द्वारा खुद को भूखा नंगा कहे जाने वाले बयान पर एक बार फिर पलटवार करते हुए कहा कि मैं जनता को प्रणाम करता हूँ तो कहते शिवराज तो घुटने टेकता है। मुझे भूखा नंगा कहा जाता है लेकिन एक बात ध्यान रखना कि मैं नंगा भूखा हूं इसलिए जनता की योजनाएं बनाता हूं। मैं नंगा भूखा हूं और कमलनाथ सेठ है, लेकिन मैं गरीबों को एक रुपए किलो गेहूं खिलाता हूं। मैं नंगा भूखा हूं इसलिए मैंने तय किया है कि एक्सीडेंट में कोई मौत हो जाएगी, तो 4 लाख रुपए अपनी विधवा बहनों को पहुंचाऊंगा। तुमने तीर्थ दर्शन योजना छीन ली, हम नंगे भूखे ही अच्छे हैं, हमें नंगे भूखे ही रहने दो। हम सामान्य परिवार में पैदा हुए हैं, तो क्या किसी व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनने का हक नहीं है। तुम्हारी अमीरी तुम्हें मुबारक हो। इस दौरान अपने संबोधन में सीएम शिवराज ने कहा कि किसान भाई पासबुक देखते रहना, मामा आपके अकाउंट में पैसा भेजता रहेगा। ये तो ट्रेलर है, आगे-आगे देखते जाओ पिक्चर अभी बाकी है मेरे भाइयों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here