सीएम शिवराज सिंह चौहान ने क्यों कहा- अब सेठ नंगे-भूखे से पूछ रहा है, देखिये वीडियो

विधायकों को खरीने के आरोप पर शिवराज ने ली चुटकी

खंडवा, सुशील विधानी। सीएम शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chauhan) ने भरी सभा में लोगों से पूछा कि “दिल से बताना जरा, मामा अच्छा कि कमलनाथ अच्छा।” इस सवाल पर लोगों के बीच से भी बड़े ज़ोर से मामा के नाम की आवाज गूंजी। शिवराज मांधाता के किल्लौद में भाजपा प्रत्याशी नारायण पटेल के समर्थन में आमसभा को संबोधित कर रहे थे। जनसभा के बात पत्रकारों से बातचीत के बीच किसी ने उनसे पूछा कि कमलनाथ (kamalnath)आरोप लगा रहे हैं कि आप 50 करोड़ में विधायक खरीद रहे हैं। इस सवाल के जवाब में शिवराज ने चुटकी लेते हुए कहा “अब सेठ नंगे भूखे से पूछ रहा है।”

जनसभा में सीएम ने कांग्रेस पर जमकर वार किये। उन्होने कहा कि देश में दो कांग्रेस चल रही है, राहुल गांधी की दिल्ली में और प्रदेश में कमलनाथ की। कमलनाथ जी अपने ही नेता की बात को नकार देते हैं। इनकी आपस में ही नहीं बनती तो ये मध्यप्रदेश को क्या बनाएंगे। कांग्रेस ने केवल 15 महीने में ही हमारे स्वर्णिम मध्यप्रदेश को गर्त में धकेल दिया था। हमने छह महीने में ही न सिर्फ जनता को कोविड-19 से राहत दिलाई, बल्कि 23,000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि भी बाँट दी।

किल्लौद में भाजपा प्रत्याशी नारायण पटेल के समर्थन में आमसभा को संबोधित करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि मैं तो जनता का सेवक हूं और मेरा जीवन मध्यप्रदेश की प्रगति और जनता के कल्याण के लिए समर्पित है। किसानों, गरीबों, युवाओं, माताओं-बहनों के जीवन में विकास का प्रकाश लाने के लिए मैं सतत कार्य कर रहा हूं। उन्होने कहा कि ये चुनाव मध्यप्रदेश के विकास और जनता के कल्याण का चुनाव है।

मंगलवार को तीसरी बार जनसभा को संबोधित करने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि दिग्गी राजा की सरकार थी तो सड़क नहीं, बिजली नहीं, पानी नहीं। केवल वादे ही वादे थे। कमलनाथ जी भी केवल रोते ही रहे, 15 महीने में विकास के कोई काम नहीं किये। भारतीय जनता पार्टी ही विकास और जनता के कल्याण के काम कर सकती है। मेरे 6 महीने के काम इसके प्रमाण हैं। सेठ कमलनाथ जी, आपने सभी योजनाओं को बंद कर दिया था, मध्यप्रदेश की जनता को यह याद है इसलिए जगह-जगह जाकर झूठ बोलना बंद कीजिये। आपने जितना अपमान जनता का 15 महीनों में किया है, जनता उसका बदला लेने वाली है। हमने जीरो प्रतिशत ब्याज पर किसानों को कर्ज देना शुरू किया, कमलनाथ जी ने उसे बंद कर दिया। गरीबों की मृत्यु पर दिये जाने वाले 4 लाख और अंतिम संस्कार के 5 हजार रुपयों पर भी रोक लगाने का पाप किया। हमारी सरकार हर वर्ग के कल्याण के लिए संकल्पित है। कांग्रेसी आयेंगे, झूठे वादों का जाल बिछायेंगे। मेरे भाइयों-बहनों, उनके जाल में फंसना नहीं है। मध्यप्रदेश की उन्नति और अपनी प्रगति के लिए भारतीय जनता पार्टी को अपना आशीर्वाद देकर भारी मतों से विजयी बनाइये।

जनसभा को संबोधित करते हुए सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी नीति-सिद्धांतों की पार्टी है। हमारा उद्देश्य एवं लक्ष्य जनता का विकास करना है, प्रदेश का विकास करना है। हम तोड़-फोड़ की राजनीति नहीं करते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार को उन्हीं के मंत्री-विधायकों ने गिराई, फिर वे भारतीय जनता पार्टी में आ गए। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को चैलेंज दिया कि आ जाओ सड़क पर, लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ को ही सड़क पर लाकर खड़ा कर दिया। कमलनाथ अपना घर ही संभाले तो ज्यादा बेहतर होगा। यह चुनाव नारायण पटेल का नहीं हम सबका और प्रदेश की खुशहाली का चुनाव है अत: 3 नवंबर को चुनाव में कमल को खिलाकर नारायण पटेल को विजयी बनाना है।

किल्लौद की आमसभा को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री और मैं पहले किसान हैं, फिर मंत्री और मुख्यमंत्री। किसानों के दुख दर्द को हम समझते हैं क्योंकि हमने खेती  किसानी की है। किसान का उत्थान देश व प्रदेश का उत्थान है अत: किसानों के लिए भाजपा की केन्द्र व प्रदेश सरकार ने कई हितकारी योजनाएं शुरू की है जिसका लाभ किसानों को मिलना शुरू हो चुका है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने किसानों को प्रतिवर्ष 6 हजार रूपए अनुदान देने की घोषणा की वहीं इस वर्ष से प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी इसमें 4 हजार जोड़कर 10 हजार रूपए कर दिए हैं। इससे सभी किसानों को कुछ राहत मिलेगी। बीमा किस्त भरने की अवधि को हमने एक माह बढ़ाया ताकि सभी किसानों का बीमा हो सके। 3 नवंबर को होने वाले चुनाव में सरल व्यक्तित्व के धनी नारायण पटेल को जिताकर प्रदेश व क्षेत्र के विकास में आप सभी सहयोगी बने।

बीजेपी प्रत्याशी नारायण पटेल ने इस अवसर पर कहा कि कांग्रेस में रहकर मुझे काफी आस थी कि विधायक बनकर मेरे क्षेत्र की जनता की भरपूर सेवा कर सकूंगा लेकिन पंद्रह माह गुजर जाने के बाद भी क्षेत्र में एक रूपए का भी विकास कार्य कांग्रेस सरकार ने नहीं किया। जब भी भोपाल क्षेत्र के विकास के लिए गया खाली हाथ लौटना पड़ा। जितने भी विधायक अपनी पार्टी से पीडि़त थे उन्होंने आगे होकर सिंधिया जी के नेतृत्व में अपने इस्तीफे दिए और विकास करने वाली भाजपा का साथ दिया। मेरे क्षेत्र की जनता एवं मेरे लिए यह हर्ष का विषय है कि बिना विधायक रहते हुए क्षेत्र के विकास के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने करोड़ों रूपए के विकास कार्यो की घोषणा कर दी है और वर्षो पुरानी मांगों को भी पूर्ण कर दिया है। मुझे विश्वास है कि आप सभी का आशीर्वाद मुझे व भाजपा को मिलेगा तो क्षेत्र चहुंमुखी विकास की ओर अग्रसर होगा।