शिवराज सिंह चौहान का कमलनाथ पर निशाना- मुझपर उंगली उठाने से पहले अपनी पार्टी को देखें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूछा कि जब वह सरकार में थे तो कमलनाथ ने किसानों के लिए कोई योजना क्यों नहीं बनाई और अब भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसानों कमलनाथ की सच्चाई जान चुके हैं।

कमलनाथ और शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री (Former chief minister) और मुख्यमंत्री के बीच जुबानी जंग और आरोप-प्रत्यारोप का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक तरफ जहां कमलनाथ (Kamalnath) शिवराज सरकार (Shivraj government) पर आरोप लगाते नहीं थक रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) कांग्रेस (congress) और कमलनाथ से उनकी सरकार के 15 महीने का हिसाब मांगते नजर आ रहे हैं। बीजेपी (BJP) लगातार सवाल उठा रही है कि 15 महीने में कमलनाथ सरकार ने किसानों के लिए किसी नई योजना को लागू क्यों नहीं किया। वहीं कांग्रेस की तरफ से बागी नेताओं सहित मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निजी हमले जारी हैं। इसी बीच सीएम शिवराज ने कमलनाथ को सेठ और उद्योगपति की संज्ञा दी है।

दरअसल शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कल कमलनाथ मुझे भूखा नंगा कह रहे थे जबकि मैं उन्हें उद्योगपति कह रहा हूं। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आप हमें उद्योगपति होने पर सवाल कर रहे हैं लेकिन आप ही के पार्टी के एक नेता ने कुछ दिन पहले कहा था शिवराज सिंह चौहान भूखा नंगा है और आप देश के दो नंबर के उद्योगपति हैं। सीएम शिवराज ने कहा कि कमलनाथ को सबसे पहले अपनी पार्टी के नेताओं के ऊपर सवाल उठाना चाहिए। क्या कांग्रेस पार्टी के नेता झूठ बोल रहे हैं । अगर ऐसा नहीं है तो उन्हें उनसे सवाल करने चाहिए।

बीजेपी के बड़े नेताओं के साथ सिंधिया के अंतर्कलह की बात को सिरे से नकारा

वहीं दूसरी तरफ लगातार कांग्रेस द्वारा आरोप लगाया जा रहा था कि बीजेपी में शामिल होने के बाद सही नरेंद्र सिंह तोमर और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच सब कुछ सही नहीं चल रहा है। इसको लेकर कई बार नेताओं से सवाल भी पूछे जा चुके हैं। जिस पर पिछले दिनों नरेंद्र सिंह तोमर ने जवाब देते हुए कहा था कि भारतीय जनता पार्टी में सिंधिया उस पार्टी की विचारधारा को समझने की कोशिश करने लगे हुए हैं। इसी पर अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा बयान दिया है।सीएम शिवराज ने बीजेपी के बड़े नेताओं के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया के अंतर्कलह की बात को सिरे से नकारते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी कभी नई या पुरानी नहीं होती। भारतीय जनता पार्टी में किसी भी दल से शामिल होने वाले नेता उसी तरह घुल मिल जाते हैं। जैसे दूध में शक्कर। ज्योतिरादित्य सिंधिया भारतीय जनता पार्टी में आए हैं अब बीजेपी के ही हो गए हैं।

पिछले वचन पत्र के एक भी वचन को कांग्रेस ने पूरा नहीं किया

वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि सच तो यह है कि झूठ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ कह रहे हैं। वहीं उन्होंने कमलनाथ सरकार पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि पिछले 15 महीने में पिछले वचन पत्र के एक भी वचन को कांग्रेस ने पूरा नहीं किया है और अब हर दिन नए वचन लेकर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा ना नौ मन तेल होगा, न राधा नाचेगी।

किसानों के हित में बोलते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस लगातार किसानों को दिग्भ्रमित कर रही है, एमएसपी खत्म हो जाएगी जैसे अफवाह फैलाई जा रही है। वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा गया है कि कोई मंडी बंद नहीं होगी। मैं खुद कह रहा हूं कि किसानों की कोई मंडी बंद नहीं होगी। एमएससी समाप्त नहीं होगी। एमएसपी जारी रहेगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूछा कि जब वह सरकार में थे तो कमलनाथ ने किसानों के लिए कोई योजना क्यों नहीं बनाई और अब भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसानों कमलनाथ की सच्चाई जान चुके हैं। इसलिए ऐसे भ्रम फैलाने का कोई फायदा नहीं होगा।

बता दें कि पिछले दिनों कांग्रेस द्वारा शिवराज सिंह चौहान को लेकर कांग्रेस नेता द्वारा अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया गया था। जिसके बाद बीजेपी के सारे नेता ने “मैं भी शिवराज” इस बात का समर्थन करते हुए कमलनाथ को उद्योगपति की संज्ञा दे दी थी। वहीँ इससे पहले उन्होंने प्रदेशवासियों को दुर्गा महाष्टमी की शुभकामनाएं भी दी है।