बुजुर्ग मतदाता का छलका दर्द- इस कैबिनेट मंत्री के हारने पर मिलेगी खुशी, वीडियो वायरल

बुजुर्ग मतदाता ने सुनील शर्मा से कहा कि आप 20 हजार वोटों से लीड कर रहे तो उसमें हमें खुशी नहीं होगी, प्रद्युम्न की जमानत जब्त होगी तो दिल को खुशी मिलेगी। बुजुर्ग ने आगे कहा कि प्रद्युम्न भी प्यारा था बहुत संघर्ष किया है उसने, पर उसे हमारा वोट नहीं बेचना था,आकर पूछता तो जनता से। कांग्रेस में रहता तब भी मंत्री ही रहता। ये लालच ठीक नहीं है, अब यहाँ से उसकी राजनीति खत्म हो गई।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। उपचुनावों (By-election) की सरगर्मी जैसे जैसे बढ़ रही है वैसे वैसे नेताओं का जनसंपर्क भी तेज हो रहा है। सभी दलों के नेता खुद को जिताने के लिये जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं। कहीं वे मतदाता के पैर छूते दिख रहे हैं तो उसे माला पहनाकर सम्मान करते दिखाई दे रहे हैं। लेकिन अब मतदाता (Voter) का गुस्सा भी सामने आने लगा है। उसे लगता है कि नेता के व्यक्तिगत लालच के चलते ये उप चुनाव उसपर थोपा गया है। ग्वालियर में एक नाराज बुजुर्ग मतदाता का ऐसा दर्द छ्लका कि उसने ऊर्जा मंत्री एवं भाजपा प्रत्याशी की जमानत जब्त होने पर ही खुशी मिलने की बात कह दी।

प्रदेश की 28 सीटों पर हो रहे उपचुनावों में तीन सीटें ग्वालियर जिले की भी हैं । इनमें से एक सीट ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र (Gwalior Assembly Constituency) से कांग्रेस की तरफ से प्रदेश सचिव सुनील शर्मा और भाजपा की ओर से ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar) चुनाव मैदान में हैं। दोनों ही प्रत्याशी इन दिनों जनसंपर्क में जुटे हैं । बीते रोज सुनील शर्मा के जनसंपर्क के दौरान एक ऐसा वाकया हुआ जिसका वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है। दरअसल सुनील शर्मा अपने समर्थकों के साथ शुक्रवार को जनसंपर्क कर रहे थे तभी एक मोहल्ले में वोट मांगने के दौरान एक बुजुर्ग मतदाता का गुस्सा फूट पड़ा।

यह भी पढ़े…कांग्रेस का आरोप, सांवेर सीट पर 850 फर्जी मतदाताओं के नाम जोड़े गए

मतदाता बोला- हमारा वोट नही बेचना

दर्द भरे अंदाज में बुजुर्ग ने सुनील शर्मा से कहा कि आप 20 हजार वोटों से लीड कर रहे तो उसमें हमें खुशी नहीं होगी, प्रद्युम्न की जमानत जब्त होगी तो दिल को खुशी मिलेगी। बुजुर्ग ने आगे कहा कि प्रद्युम्न भी प्यारा था बहुत संघर्ष किया है उसने, पर उसे हमारा वोट नहीं बेचना था,आकर पूछता तो जनता से। कांग्रेस में रहता तब भी मंत्री ही रहता। ये लालच ठीक नहीं है, अब यहाँ से उसकी राजनीति खत्म हो गई।

यह भी पढ़ेMP By-election: युवाओं पर फोकस, अब कॉलेज स्टूडेंट को मतदाता बनाएगी सरकार

गौरतलब है कि ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर उन 22 पूर्व विधायकों में शामिल हैं जिन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर कमलनाथ सरकार को 15 महीने में गिरा दिया था और भाजपा को जॉइन कर लिया था। जिसके बाद से उनकी विधानसभा के बहुत से मतदाता नाराज है जिसके परिणाम स्वरूप बुजुर्ग मतदाता का दर्द छलक आया। बुजुर्ग का ये वीडियो इस समय जमकर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here