उमा भारती बोलीं- प्रद्युम्न असाधारण व्यक्ति, इनमें विनम्रता और शौर्य दोनों गुण

पूर्व मुख्यमंत्री ने सिंधिया को कहा जिगर का टुकड़ा

ग्वालियर, अतुल सक्सेन। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने ग्वालियर विधानसभा के पार्टी प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह तोमर की तारीफ करते हुए कहा कि कांग्रेस इनके पैर छूने पर ताने कसती है, पैर तो मेरी अम्मा राजमाता विजया राजे सिंधिया भी छूती थीं। वे संतों के सामने झुकती थीं, क्योंकि उन्हें उनमें ईश्वर का अंश दिखता था। प्रद्युम्न बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद लेने झुकते हैं, मतदाता के सामने झुकते हैं, उन्हें भी जनता में भगवान दिखता है, वे खुद को सेवक कहते हैं। उमा भारती ने कहा कि प्रद्युम्न में विनम्रता और शौर्य दोनों हैं, ये असाधारण व्यक्ति हैं। उन्होंने कहा कि जब ये मुझसे मिलने मेरे जिगर के टुकड़े मेरे लाड़ले ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ दिल्ली में आये थे मैं तभी पहचान गई थी कि ऐसे ही व्यक्ति शिवराज सिंह जी के हाथ मजबूत करेंगे और प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने में सहभागी बनेंगे।

ग्वालियर विधानसभा के प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह तोमर के समर्थन में सभा करने आई पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने प्रदेश की राजनीति पर बोलते हुए कहा कि मुझे ज्योतिरादित्य हमेशा भाजपा में लगते थे। कभी कोई सभा में ज्योतिरादित्य के बारे में कुछ उलटा सीधा बोलता था तो मैं टोक देती थी। मैं उसकी बुआ हूँ। ये मेरी अम्मा राजमाता सिंधिया का घर है तो ये मेरा भी घर है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बेकार के आरोप लगाती है कि भाजपा के सरकार गिराई। भाजपा ने कांग्रेस की सरकार नहीं गिराई, कांग्रेस ने ही कांग्रेस की सरकार गिराई थी। उन्होंने दावा किया कि यदि फ्लोर में फैसला होता तो करीब 40 कांग्रेस विधायक भाजपा की तरफ आकर बैठ जाते। उन्होने कहा कि प्रद्युम्न मंत्री थे विधायक थे उन्हें क्या प्रॉब्लम थी लेकिन फिर भी वो बेचैन थे, किसके लिए, आपके लिए। जब क्षेत्र की जनता के काम नहीं हो रहे थे तब उन्होंने मंत्री पद छोड़ा यह बहुत बड़ी बात होती है। पद छोड़ना और फिर उसके बाद चुनाव लड़ना बहुत साहस का काम है क्योंकि जनता किसी के पट्टे में नहीं होती जनता भगवान होती है।

उमा भारती ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान का मुख्यमंत्री बनना दैव योग है। ये भगवान का आशीर्वाद है, वे उस समय मुख्यमंत्री बने जब प्रदेश कोरोना से जूझ रहा था। मुझे बहुत खुशी है कि जिस तपस्या के साथ मैंने कांग्रेस के कुशासन से मुक्ति दिलाकर भाजपा के सरकार बनाई थी उन्होंने उसी तपस्या से इस विषम परिस्थिति में सरकार चलाई। उन्होंने कहा भारत के पहले प्रधानमंत्री है नरेंद्र मोदी, जो भारत को आत्मनिर्भर बना रहे हैं। यह सबसे बड़ी चुनौती है आत्म निर्भर भारत बनेगा तब रामराज्य आएगा। मैं गंगा की अखंड धारा के लिए काम कर रही हूं। उन्होंने कहा कि अब प्रचंड राजनीति करनी पड़ेगी। तब गरीब और अमीर की खायी पटेगी।

उमा भारती ने प्रद्युम्न सिंह तोमर की तारीफ करते हुए कहा कि प्रद्युम्न सिंह जैसे लोग ही मोदी जी के आत्म निर्भर भारत के सपने को पूरा कर सकते है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रद्युम्न के जनता के पैरों में झुकने पर मजाक बनाते हैं, पैर तो मेरी अम्मा राजमाता विजया राजे सिंधिया भी छूती थी, वे संतों के सामने झुकती थी, क्योंकि उन्हें उनमें ईश्वर का अंश दिखता था, प्रद्युम्न बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद लेने झुकते हैं मतदाता के सामने झुकते हैं उन्हें भी जनता में भगवान दिखता है वे खुद को सेवक कहते हैं। उमा भारती ने कहा कि प्रद्युम्न में विनम्रता और शौर्य दोनों हैं ये असाधारण व्यक्ति हैं। उन्होंने कहा कि जब ये मुझसे मिलने मेरे जिगर के टुकड़े मेरे लाडले ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ दिल्ली में आये थे मैं तभी पहचान गई थी कि ऐसे ही व्यक्ति शिवराज सिंह जी के हाथ मजबूत करेंगे और प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने में सहयोगी बनेंगे। उन्होंने कहा कि आप इनके उपर तीन तारीख को कमल के फूलों की बरसात करिए। पहले से ज्यादा वोट से विजयी बनाइये, कांग्रेस के पास कुछ नहीं है इसलिए अनर्गल बोलते हैं। भारत भाजपा मय और प्रदेश भाजपा मय होने जा रहा है।