इन कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, शुरू हुई नई व्यवस्था, मिलेगा लाभ, खाते में 100 प्रतिशत पहुंचेगी राशि

केंद्र और राज्य सरकार द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए लगातार बड़े ऐलान किए जा रहे हैं। इसी बीच अब केंद्र सरकार द्वारा महिला कर्मचारियों के लिए नवीन व्यवस्था शुरू की गई है। व्यवस्था ऑनलाइन होने से लाखों महिला कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा।

employee
demo pic

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र और राज्य सरकार द्वारा 6th-7th pay commission कर्मचारियों के लिए आए दिन बड़े ऐलान किए जा रहे हैं। दरअसल उनकी वेतन वृद्धि (increment), DA Hike, पेंशन (pension) सहित अन्य लाभों संशोधित नियम तैयार किये जा रहे हैं। इसी बीच केंद्र सरकार द्वारा महिला कर्मचारियों (Women Employees) के लिए भी बड़ा फैसला लिया गया था। जहां उन्हें मातृत्व लाभ (maternity benefit) देने की घोषणा की गई थी। मातृत्व अवकाश का लाभ देने सहित अब महिलाओं को मातृत्व लाभ की सुविधा को भी आसान बनाया गया है।

दरअसल महिलाओं को मातृत्व लाभ लेने की प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया है। जिसके बाद अब महिला कर्मचारी मातृत्व लाभ लेने के लिए सुविधा अनुसार देश भर में कहीं से भी मेटरनिटी बेनिफिट का दावा कर सकेंगी।साथ ही ईएसआईसी सब्सक्राइब अकेले मेटरनिटी बेनिफिट का दावा करना बेहद आसान हो जाएगा। कॉरपोरेशन द्वारा ऑनलाइन पोर्टल शुरू कर दिया गया है।

मामले में श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव का कहना है ईमित्र महिलाओं के जीवन को आसान बनाने के लिए ईएसआईसी द्वारा टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है, जो बेहद ही सराहनीय है। लाभार्थी को बेनिफिट आसानी से उपलब्ध कराने के लिए इस पोर्टल का संचालन किया जाता है। अब महिला कर्मचारी भी मेटरनिटी बेनिफिट क्लेम कर सकेगी। लाभार्थी को संबंधित ब्रांच ऑफिस पहुंचना होता था लेकिन अब देश भर में कहीं से भी महिला कर्मचारी द्वारा अपनी सुविधानुसार इसका लाभ उठाया जा सकता है।

Read More : MPESB MPPEB : आरक्षक भर्ती परीक्षा के रिजल्ट जारी, 27 प्रतिशत OBC आरक्षण पर नई प्रतिक्रिया और विवाद, 6000 आरक्षकों की भर्ती

कर्मचारी राज्य बीमा के तहत कर्मचारियों को चिकित्सा लाभ के अलावा बीमारी लाभ उपलब्ध कराए जाते हैं। इस दौरान व्यक्ति को बीमारी होने पर छुट्टी के लिए 91 दिनों की औसत दैनिक वेतन का 70% नकद भुगतान किया जाता है जबकि मातृत्व लाभ में छुट्टी के दौरान 26 सप्ताह तक, गर्भात के मामले में 6 सप्ताह तक और कमिश्निंग या दत्तक मां को 12 सप्ताह तक औसत दैनिक वेतन का 100 फीसद नकद भुगतान करने का नियम है।

एक आंकड़े के मुताबिक वर्ष 2021 -22 के दौरान कुल 18.69 लाख महिला लाभार्थियों को 37.37 करोड रुपए का मेटरनिटी बेनिफिट दिया गया है। इसके अलावा ईएसआईसी के तहत निशक्तजन लाभ, आश्रित जनलाभ, बेरोजगारी भत्ता सहित वृद्धावस्था चिकित्सा लाभ और अन्य लाभ लाभार्थियों को उपलब्ध कराए जाते हैं।