हजारों कर्मचारियों को मिला बड़ा तोहफा, हुए नियमित, वेतनमान संशोधन के आदेश जारी, 32 हजार रुपए तक मिलेगी सैलरी

इसके अलावा इसके नियम के तहत जिन संविदा कर्मियों के वेतन पहले अधिक होंगे। उनके मिलने वाले वेतन में दो सालाना इंक्रीमेंट जोड़ा जाएगा।

cpc

जयपुर, डेस्क रिपोर्ट। राज्य सरकार ने अपने 6th-7th pay commission कर्मचारियों (Employees) को बड़ा तोहफा दिया है। दिवाली से पहले 31000 कर्मचारियों के वेतनमान संशोधित (new pay scale)  करने का निर्णय लिया गया है। इस संबंध में शुक्रवार को आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। इसका लाभ 31 हजार से अधिक ग्राम पंचायत सहायक, शिक्षा कर्मी और पैरा टीचर को होगा। उनके वेतनमान संशोधित करने के निर्णय लिए गए हैं। अब उनके वेतन बढ़कर 32000 रूपए हो जाएंगे।

पंचायत सहायक शिक्षाकर्मियों पैरा टीचर्स को नियमित करने के आदेश जारी करने के साथ ही अब शुरुआती में तीनों को 10400 रूपय का वेतन उपलब्ध कराया जाएगा। बता दें कि संविदा कर्मचारियों को भी 10400 रूपए से ज्यादा वेतन उपलब्ध कराए जाते हैं। 9 साल की सेवा पूरी करने के बाद उनके वेतन बढ़ कर 18500 रूपए हो जाएंगे जबकि 18 साल की सेवा पूरी करते हैं। उनके वेतन में बड़ी वृद्धि होगी और उनके वेतन बढ़कर 32300 रूपए होंगे।

Read More : पुलिस ने अवैध पटाखा बनाने वाली फैक्ट्री पर मारा छापा, 2.50 लाख के पटाखे बरामद, आरोपी गिरफ्तार

वही उनके पद नाम भी बदले गए हैं, राजस्थान कोंट्राक्टुअल सर्विस रूल्स के तहत शिक्षा कर्मियों को अब शिक्षा सहायक पैरा टीचर को पाठशाला सहायक और ग्राम पंचायत सहायक को विद्यालय सहायक कहा जाएगा। पंचायत सहायक शिक्षा कर्मी और पैरा टीचर तभी नियमित होंगे, जब वह जरूरी शिक्षण अहर्ता प्राप्त करेंगे। कोंट्राक्टुअल सर्विस रूल्स के दायरे में वैसे ही संविदा कर्मी आ आएंगे। जिन्होंने अपनी योग्यता पूरी की हो।

इसके अलावा इसके नियम के तहत जिन संविदा कर्मियों के वेतन पहले अधिक होंगे। उनके मिलने वाले वेतन में दो सालाना इंक्रीमेंट जोड़ा जाएगा। उनके नए वेतन तय किए जाएंगे। साथ ही वैसे कर्मचारी जिनके मिलने वाला वेतन संरक्षित किया गया है । उन्हें 9 और 18 साल की सेवा की गिनती नियम के आने की तारीख से पूरी की जाएगी। पहले की सेवा 9 और 18 साल की गिनती में शामिल नहीं की जाएगी।

इसके अलावा तय नियम के तहत संविदा कर्मचारियों को इंक्रीमेंट का लाभ नहीं मिलेगा। कई विभागों में 6000 महीने पर संविदा कर्मी कार्यरत हैं। ऐसे संविदा कर्मी नियमित होंगे और उनके अब उन्हें इंक्रीमेंट और नौकरी सुरक्षा का लाभ मिलेगा।