4 लाख कर्मचारियों-पेंशनर्स को नए वेतनमान का तोहफा, पेंशन-ग्रेच्युटी का लाभ, इतनी बढ़कर मिलेगी सैलरी

नए वेतनमानों और संशोधित पेंशन से राज्य पर सालाना 6,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

7th pay commission Fitment Factor

शिमला, डेस्क रिपोर्ट। नए साल से पहले हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों-पेंशनर्स (Himachal Pradesh government employees-pensioners) को बड़ी सौगात मिली है।मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पंजाब की तर्ज पर कर्मचारियों के लिए बहुप्रतीक्षित नए वेतनमान की घोषणा कर दी है।सरकार ने 01 जनवरी 2016 से नया वेतनमान देने का ​फैसला लिया है। ये फरवरी 2022 से देय होगा।  इस फैसले से राज्य के ढाई लाख कर्मचारियों और करीब डेढ़ लाख पेंशनरों यानि करीब 4 लाख को लाभ मिलेगा।इससे सैलरी में बढ़ा उछाल आएगा।

यह भी पढ़े.. Sahara India पर 2 और धोखाधड़ी के मामले दर्ज, मालिक सहित अधिकारियो पर शिकंजा

इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार (Jai Ram Thakur Government) के अनुबंध कर्मचारियों के नियमितीकरण की अवधि भी 3 वर्ष से घटाकर 2 वर्ष करने का भी फैसला लिया है, लेकिन अनुबंध कर्मचारियों को 2 साल बाद यानि नियमितीकरण का लाभ 30 सितंबर 2020 से मिलेगा।  इससे 19 हजार कर्मचारियों के साथ नए भर्ती होने वालों को भी लाभ दिया जाएगा।  नए वेतनमानों और संशोधित पेंशन से राज्य पर सालाना 6,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।वही संविदाकर्मी अब 03 वर्ष की बजाय 02 वर्ष के बाद ही नियमित कर दिए जाएंगे।

आपको बता दे कि राज्य सरकार (State Government) साल में यह लाभ दो बार 31 मार्च और 30 सितंबर को देती है। वही दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों, अंशकालिक श्रमिकों, जल रक्षकों और जल वाहक आदि के संबंध में नियमितीकरण और दैनिक मजदूरी परिवर्तन के लिए भी एक वर्ष कम किया जाएगा।सीएम ने कहा कि राज्य सरकार अपने कुल बजट का लगभग 43 फीसदी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों पर व्यय कर रही है, जो 6th Pay Commission के लागू होने के बाद 50 फीसदी और तक बढ़ जाएगा।

यह भी पढ़े. 1 दिसंबर से बदल जाएंगे बैंकिंग-पेंशन समेत ये 7 नियम, जानें जेब पर क्या पड़ेगा असर

सीएम (CM Jairam Thakur) के ऐलान के बाद सभी पेंशनरों और पारिवारिक पेंशनभोगियों को एक जनवरी 2016 से संशोधित पेंशन और अन्य संबंधित लाभ मिलेंगे। संशोधित वेतनमान और संशोधित पेंशन या पारिवारिक पेंशन पर महंगाई भत्ता और महंगाई राहत दी जाएगी। केंद्र के 5 मई, 2009 के कार्यालय ज्ञापन के अनुसार 15 मई 2003 से नई पेंशन प्रणाली इनवेलिड पेंशन (Pension) और फैमिली पेंशन (Family Pension) के कार्यान्वयन की भी घोषणा, इससे राज्य के कोष पर 250 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

ग्रेच्युटी का भी लाभ

इसके अलावा मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सभी NPS कर्मचारियों को मृत्यु-सह-सेवानिवृत्ति ग्रेच्युटी लाभ देने का फैसला किया गया है। इसके तहत 15 मई, 2003 से 22 सितंबर, 2017 तक इस लाभ से वंचित NPC कर्मचारियों को ग्रेच्युटी का लाभ दिया जाएगा। पिछले लगभग 4 वर्षों के दौरान राज्य सरकार ने राज्य के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के डीए(DA Hike) में 22 प्रतिशत की वृद्धि की है,उन्हें 1,320 करोड़ रुपये का वित्तीय लाभ प्रदान किया गया है

नए वेतनमान से सैलरी में होगी इतना इजाफा

उदारण के तौर पर, नए वेतनमान से सबसे कम वेतन वाले कर्मचारियों जैसे नवनियुक्त लिपिक को 3 से साढे़ तीन हजार रुपये और वरिष्ठ एचएएस अधिकारी, डॉक्टर आदि को 15 से 20 हजार रुपये तक का हर महीने फायदा मिलेगा।इसके अलावा पेंशनरों को भी 1 से 10 हजार रुपये तक फायदा होगा। यह गणना एक अनुमान के तौर पर है, अन्य भत्ते जुड़ने पर सैलरी में एक बड़ा उछाल देखने को मिलेगा।