लाखों कर्मचारियों-पेंशनर्स को फिर मिलेगा एक और बड़ा गिफ्ट! जल्द मिलेगा भत्ते-एरियर का लाभ, 50000 तक बढ़ेगी सैलरी, जानें अपडेट

Central Employee DA/DR/ Salary Hike 2023 : केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों को एक बार फिर बड़ी सौगात मिल सकती है।  खबर है कि रक्षाबंधन के बाद कर्मचारियों पेंशनरों के महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में 3% की वृद्धि की जा सकती है, जिसके बाद केन्द्रीय कर्मचारियों का कुल डीए 45 फीसदी हो जाएगा। नई दरें 1 जुलाई 2023 से प्रभावी होगी, हालांकि इसको लेकर अभी तक अधिकारिक तौर पर कोई घोषणा नहीं की गई है, यह अनुमान AICPI इंडेक्स के छमाही आंकड़ों से लगाया गया है।

साल में 2 बार बढ़ता है डीए

दरअसल, केन्द्र सरकार द्वारा साल में 2 बार केन्द्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के डीए और डीआर की दरों में संशोधन किया जाता है। पहली बढ़ोत्तरी जनवरी और दूसरी जुलाई में की जाती है। जनवरी से जून तक की दरें जारी हो चुकी है और अब जुलाई से दिसंबर की जारी होना है। इस बार भी महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में बढ़ोतरी सातवें वेतन आयोग के फॉर्मूले के अनुसार की जाएगी। डीए की दरें श्रम विभाग द्वारा जारी AICPI इंडेक्स के आंकड़ों से तय की जाती है।हालांकि अंतिम फैसला केन्द्र सरकार का होता है। खबर है कि अबतक के आए आंकड़ों के बाद डीए में 3 फीसदी की वृद्धि हो सकती है।

डीए में 3 फीसदी की वृद्धि संभव

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केन्द्रीय कर्मचारियों को जल्द 45% महंगाई भत्ते का लाभ मिल सकता है।वर्तमान में कर्मचारियों को 42% डीए का लाभ मिल रहा है, अगर 3% और वृद्धि होती है तो डीए बढ़कर 45% हो जाएगा। नई दरें जुलाई से लागू होंगी तो एरियर भी मिलेगा। इसका लाभ 47.58 लाख कर्मचारियों और लगभग 69.76 लाख पेंशनभोगियों को लाभ मिलेगा।  खबर है कि सितंबर में  व्यय विभाग  प्रस्ताव तैयार कर अंतिम मंजूरी के लिए पीएम मोदी की अध्यक्षता में होने वाली कैबिनेट बैठक में रख सकता है और यहां से मंजूरी मिलने के बाद वित्त मंत्रालय द्वारा आदेश जारी किए जाएंगे।इससे पहले मार्च में 4 फीसदी डीए बढ़ाया गया था, जिसके बाद डीए 38% से बढ़कर 42% हो गया था।

45 फीसदी DA/DR पर कितनी बढ़ेगी सैलरी

  • अगर किसी कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18000 रुपये है तो 45 फीसदी डीए के हिसाब से करीब 10 हजार रुपये सैलरी बढ़ जाएगी। बता दे कि महंगाई भत्ते का कैलकुलेशन डीए का मौजूदा रेट और बेसिक सैलरी में गुणा के आधार पर महंगाई भत्ते की रकम निकाली जाती है।
  • उदाहरण के तौर पर,अगर क‍िसी सरकारी कर्मचारी की बेस‍िक सैलरी 18000 रुपये है तो इस पर उसे 42% यानी 7560 रुपये का DA म‍िलता है और 46 % होने पर 8280 रुपये महीने हो जाएगा,इस ह‍िसाब से हर महीने सैलरी में 720 रुपये बढ़ जाएंगे।
  • यदि किसी की सैलरी 56900 रुपये तो उसे हर महीने 2,276 रुपये और सालाना 27,312 रुपये का फायदा होगा।अगर किसी को 30,000 रुपये महीने की बेसिक पेंशन मिलती है तो उसे 44,400 रुपये महंगाई राहत के तौर पर मिलते हैं।
  • 4 फीसदी DR बढ़ोतरी के बाद ये पैसा बढ़कर 42,600 रुपये हो जाएगा, यानी पेंशन में हर महीने 800 रुपये की बढ़ोतरी होगी।

हाउस रेंट अलाउंस में भी वृद्धि संभव

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केन्द्र सरकार महंगाई भत्ते के अलावा HRA में भी वृद्धि कर सकती है। पिछला एचआरए जुलाई 2021 में 25 प्रतिशत तक बढ़ाया गया था। इस बार इसमें 3% की वृद्धि संभव है।चुंकी सरकारी कर्मचारी का HRA शहर के आधार पर बढ़ाया जाता है, इसे X, Y, और Z कैटेगरी में रखा जाता है। फिलहाल Z वर्ग के कर्मचारी को उनकी बेसिक सैलरी पर 9, Y को 18 और X को 27% HRA मिलता है।माना जा रहा है कि X श्रेणी के शहरों में 3% और Y श्रेणी के शहरों में केवल 2% और Z श्रेणी में 1% तक HRA को बढ़ाया जा सकता है।


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News