कर्मचारियों को जल्द मिलेगी गुड न्यूज, 4 भत्तों में फिर होगा इजाफा! सैलरी में आएगा बंपर उछाल

हाउस रेंट अलाउंस 56900 रुपए x 27/100= 15363 रुपए महीना है तो 30% HRA होने पर 56,900 रुपए x 30/100= 17,070 रुपए महीना हो जाएगा

employees cooks allowance

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। 7th pay commission:  केंद्रीय कर्मचारियों (Central government employees Salary) को जून-जुलाई में एक साथ कई खुशियां मिलने वाली है। एक तरफ जुलाई में 5 % तक महंगाई भत्ता बढने की अटकलें है तो दूसरी तरफ हाउस रेंट अलाउंस और ट्रैवल अलाउंस समेत 4 भत्तों के भी बढ़ने की संभावना है।मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 34% DA होने के बाद मोदी सरकार जल्द ही कर्मचारियों के अन्य भत्तों जैसे हाउस रेंट अलाउंस, ग्रेच्युटी, सिटी अलाउंस और ट्रैवल अलाउंस में इजाफा कर सकती है।हालांकि सरकार की तरफ से कोई पुष्टी नहीं की गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार,34% महंगाई भत्ता होने पर अब मोदी सरकार 3% हाउस रेंट अलाउंस और 3% यात्रा भत्ता (House Rent Allowance and Travel Allowance)  के साथ सिटी अलाउंस (City Allowance) भी बढ़ा सकती है। वही प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) और ग्रेच्युटी (Gratuity) में भी बढोतरी की जा सकती है।चुंकी कर्मचारियों के मंथली PF और ग्रेच्युटी की गणना बेसिक वेतन और DA से होती है, ऐसे में महंगाई भत्ते के बढ़ने से PF और ग्रेज्युटी का बढ़ना तय है।  संभावना जताई जा रही है कि जुलाई इन पर फैसला हो सकता है और कर्मचारियों को लाभ दिया जा सकता है ।

हाउस रेंट अलाउंस को ऐसे समझें

  1. वर्तमान में कर्मचारियों को 27%, 18% और 9% की दर से HRA मिल रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार,  संभावना है कि X श्रेणी के कर्मचारियों के HRA में 3, Y श्रेणी कर्मचारियों के HRA में 2 फीसदी और Z श्रेणी के लिए 1 फीसदी HRA वृद्धि हो सकती है।
  2. इसके बाद यह 27% से बढ़कर 30% हो जाएगा, हालांकि यह तब होगा जब डीए 50 फीसदी पार करेगा।इससे सालाना HRA में 20,484 रुपए वृद्धि होगी।
  3. 7th Pay Matrix के हिसाब से कर्मचारियों की अधिकतम बेसिक सैलरी 56,900 रुपए है तो HRA 27 फीसदी होने पर सैलरी में 20000 का लाभ होगा।
  4. उदाहरण के तौर पर हाउस रेंट अलाउंस 56900 रुपए x 27/100= 15363 रुपए महीना है तो 30% HRA होने पर 56,900 रुपए x 30/100= 17,070 रुपए महीना हो जाएगा यानि कुल अंतर: 1707 रुपए महीना होगा।सालाना HRA में 20,484 रुपए वृद्धि होगी।
  5. ये दर एरिया और शहर के हिसाब से अलग-अलग होती है, फिलहाल तीनों कैटेगरी के लिए मिनिमम HRA 5400, 3600 और 1800 रुपए हैं।

ट्रैवल अलाउंस को ऐसे समझें

  • ट्रैवल अलाउंस को पे-मैट्रिक्स लेवल के आधार पर 3 वर्गों में बांटा गया है, इसमें शहरों और कस्बों को दो वर्गों में बांटा गया है। TA का कैलकुलेशन का फॉर्मूला देखें तो Total Transport Allowance = TA + [(TA x DA% )\/100] है।
  • TPTA शहरों में लेवल 1-2 के लिए TPTA 1350 रुपए, 3-8 लेवल कर्मचारियों के लिए 3600 रुपए और 9 से ऊपर के लेवल के लिए यह 7200 रुपए होता है।हायर ट्रांसपोर्ट अलाउंस वाले शहरों के लिए लेवल 9 और उससे ऊपर के कर्मचारियों को 7,200 रुपए दिया जाता है।
  • अन्य शहरों के लिए TA भत्ता 3,600 रुपए और DA, लेवल 3 से 8 तक के कर्मचारियों को 3,600 प्लस डीए और 1,800 प्लस DA के साथ लेवल 1 और 2 के लिए 1,350 रुपए प्रथम श्रेणी शहरों के लिए और DA मिलता है, जबकि अन्य शहरों के लिए 900 रुपए प्लस DA मिलता है।

Provident Fund और ग्रेच्युटी Gratuity

प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) और ग्रेच्युटी (Gratuity) में भी बढोतरी की जा सकती है।चुंकी कर्मचारियों के मंथली PF और ग्रेच्युटी की गणना बेसिक वेतन और DA से होती है, ऐसे में महंगाई भत्ते के बढ़ने से PF और ग्रेज्युटी का बढ़ना तय है।  संभावना जताई जा रही है कि जुलाई इन पर फैसला हो सकता है और कर्मचारियों को लाभ दिया जा सकता है ।वही खबर है कि 7वें के बाद अब 8वां वेतन आयोग नहीं आएगा।इसके बदले सरकार सैलरी का नया फॉर्मूला ला सकती है।इसमें निजी कंपनियों के तहत सरकारी कर्मचारियों की परफॉर्मेंस के आधार पर वेतन वृद्धि की जा सकती है हालांकि इस पर अभी तक सरकार की तरफ से कोई अधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।