कर्मचारियों को मिलेगा 34% DA का लाभ, EPF-ग्रेच्युटी भी बढ़ेंगे, मई में इतनी बढ़कर आएगी सैलरी

56,900 रुपये बेसिक सैलरी वाले कर्मचारी की बेसिक सैलरी 19346 रुपये/माह भत्ते के हिसाब से सैलरी में 232,152 रुपये का इजाफा होगा।

cpcss

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। 7th Pay Commission: केन्द्रीय कर्मचारियों (Central Government Employees ) का 3% डीए बढ़ने पर कुल महंगाई भत्ता 34% (Dearness Allowance) हो गया है, यह 1 जनवरी 2022 से लागू होगा।  इससे 50 लाख कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा।वही कर्मचारियों को 3 महीने (जनवरी, फरवरी और मार्च) का एरियर भी दिया जाएगा। इसका लाभ कर्मचारियों को मई की सैलरी में मिलेगा। अलग अलग लेवल के हिसाब से कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी होगी। अच्छी खबर ये है कि इस महंगाई भत्ते का कैलकुलेशन बेसिक पे पर होगा। जितनी बेसिक पे होगी उतना ही डीए का फायदा मिलेगा।

यह भी पढ़े.. MP School: कक्षा 1 से 8वीं के छात्रों को बड़ी राहत, इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानें कब से शुरू होगा नया सत्र

हाल ही में वित्त मंत्रालय के डिपार्टमेंट ऑफ एक्सपेंडिचर ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी को लेकर अधिसूचना जारी कर कहा था कि 1 जनवरी 2022 को केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते को 31% से बढ़ाकर 34% किया जाता है, लेकिन मार्च 2022 महीने के वेतन के भुगतान के पहले महंगाई भत्ते के बकाये एरियर का भुगतान नहीं किया जाएगा, यानि मई के वेतन दिए जाने के बाद केंद्रीय कर्मचारियों को जनवरी से मार्च के बीच का एरियर का भुगतान किया जाएगा।यानि अप्रैल की सैलरी में कर्मचारियों को बढ़ा हुआ डीए और एरियर मिलेगी, जिसका भुगतान मई में किया जाएगा। वही महंगाई राहत बढ़ने से पेंशनरों के पेंशन में भी जमकर इजाफा देखने को मिलेगा।

डीए बढ़ने से केंद्रीय कर्मचारियों के दूसरे भत्तों के भी बढ़ने की संभावना है। इसमें ट्रैवल अलाउंस (Travel Allowance), सिटी अलाउंस (City Allowance) के साथ साथ प्रोविडेंट फंड (Provident Fund) और ग्रेच्युटी (Gratuity) में भी इजाफा होगा। चुंकी मासिक पीएफ और ग्रेच्‍युटी की गणना बेसिक सैलरी और डीए से होती है, ऐसे में डीए के बढ़ने से पीएफ और ग्रेज्युटी भी बढ़ना तय है।डीए 34 प्रतिशत होने से केन्द्र सरकार पर सालाना 9544.50 करोड़ रुपये का बोझ बढ़ेगा।

यह भी पढ़े.. MP: सोमवार को रतलाम से चलेगी यह स्पेशल ट्रेन, देखें पूरा शेड्यूल, कई ट्रेनें रद्द-रूट में भी बदलाव

बता दे कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक साल में दो बार महंगाई भत्ता और महंगाई राहत में बढ़ोतरी की जाती है। ये बढ़ोतरी छमाही आधार पर की जाती है।महंगाई भत्ता सैलरी का एक हिस्सा होता है। यह कर्मचारी के बेसिक सैलरी का एक निश्चित परसेंट होता है।खास बात ये है कि पिछले 9 महीनों में केंद्रीय कर्मचारियों एवं पेंशनर्स को मिलने वाला डीए और डीआर डबल हुआ है।

देखें सैलरी कैलकुलेशन

  • DA 34% होने पर 18,000 रुपये प्रति माह सैलरी वाले कर्मचारी को 6120 रुपये प्रति माह/ सालाना 6,480 रुपए और 56000 सैलरी वाले का सालाना डीए 20,484 रुपए होगा।उदारण के तौर पर, अगर किसी कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18,000 रुपये है तो कुल सालाना DA 73,440 रुपये होगा लेकिन सैलरी में सालाना इजाफा 6,480 रुपये होगा।
  • 56,900 रुपये बेसिक सैलरी वाले कर्मचारी की बेसिक सैलरी 19346 रुपये/माह भत्ते के हिसाब से सैलरी में 232,152 रुपये का इजाफा होगा।कर्मचारी का बेसिक पे 18,500 रुपए है तो उसे 34% के हिसाब से 6290 रुपए का DA मिलेगा यानि ग्रॉस सैलरी में 555 रुपए की बढ़ोतरी हुई है।अधिकतम सैलरी स्लैब वाले कर्मचारियों का डीए बढ़कर 19346 रुपये प्रति माह हो जाएगा।

न्यूनतम बेसिक सैलरी पर कैलकुलेशन

  • बेसिक सैलरी- 18,000 रुपये
  • नया महंगाई भत्ता (34%)- 6120 रुपये/महीने
  • कुल नया महंगाई भत्ता (34%)- 73,440 रुपये/सालाना
  • अब तक महंगाई भत्ता (31%)- 5580 रुपये/महीने
  • कितना महंगाई भत्ता बढ़ा- 6120- 5580 = 540 रुपये/महीने
  • मई में कितना मिलेगा- 540X4= 2,160 रुपये
  • सालाना सैलरी में इजाफा- 540X12= 6,480 रुपये

अधिकतम बेसिक सैलरी पर कैलकुलेशन

  • बेसिक सैलरी- 56,900 रुपये
  • नया महंगाई भत्ता (34%)- 19,346 रुपये/महीने
  • नया महंगाई भत्ता (34%)- 232,152 रुपये/सालाना
  • अबतक महंगाई भत्ता (31%)- 17639 रुपए/महीने
  • कितना महंगाई भत्ता बढ़ा- 19346-17639= 1,707 रुपये/महीने
  • मई में कितना मिलेगा- 1,707 X4= 6,828 रुपये
  • सालाना सैलरी में इजाफा- 1,707 X12= 20,484 रुपये