GOOD NEWS: नए साल में कर्मचारियों को मिलेगा तोहफा! फिर बढ़ेगा DA, सैलरी में आएगा उछाल, ऐसे होगा कैलकुलेशन

Central Employee DA Hike 2023: एक तरफ नए साल से पहले त्रिपुरा सरकार ने महंगाई भत्ता और महंगाई राहत 12 फीसदी बढ़ाकर अपने सरकारी कर्मचारियों और पेंशनरों को सौगात दी है, वही दूसरी केन्द्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों के 2023 में डीए बढ़ोत्तरी की अटकलें तेज है। संभावना जताई जा रही है कि AICPI इंडेक्स के आंकड़ों में लगातार उछाल के बाद केन्द्र सरकार एक बार फिर 2023 में कर्मचारियों का 3 से 5 फीसदी तक डीए बढ़ा सकती है और मार्च 2023 में होली के आसपास इसका ऐलान किया जा सकता है। हालांकि अभी अधिकारिक पुष्टि होना बाकी है।

दरअसल, AICPI इंडेक्स के आधार पर साल में दो बार केन्द्र सरकार द्वारा केन्द्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ता (Dearness Allowance) और महंगाई राहत (Dearness Relief) में जनवरी और जुलाई में संशोधन किया जाता है ,ऐसे में अब 2023 में फिर डीए की बढ़ने की अटकलें तेज है, क्योंकि जुलाई से लेकर सितंबर तक के आंकड़े आ चुके है, हालांकि अक्टूबर नवंबर और दिसंबर के अंक आना बाकी है, जो जल्द जारी किए जाएंगे। अबतक AICPI इंडेक्स में कुल 2.1 फीसदी की तेजी आई है, सितंबर में ये आंकड़ा 131.2 पर रहा है। इसके बाद AICPI इंडेक्स के नंबर्स से तय होगा कि जनवरी 2023 में कितना महंगाई भत्ता बढ़ेगा।

42 या 43 फीसदी होगा DA

वर्तमान में केन्द्रीय कर्मचारियों को 38 फीसदी डीए का लाभ मिल रहा है और संभावना जताई जा रही है कि नए साल में केन्द्रीय कर्मचारियों-पेंशनरों का डीए 3 से 5 फीसदी तक बढ़ाया जा सकता है, जिसके बाद यह 42 या 43 फीसदी हो सकता है। 4 फीसदी महंगाई भत्ते में वृद्धि होने पर 18000 रूपए सैलरी पाने वाले कर्मचारियों को प्रति महीने 720 रूपए और सालाना सैलरी में 8640 रूपए का इजाफा होगा। वही 56900 रुपए सैलरी पाने वाले कर्मचारियों के डीए में 2276 रूपए महीना और 27312 रूपए सालाना वृद्धि देखने को मिल सकती है। वही पेंशनभोगियों के लिए महंगाई राहत (DR) भी बढ़ा सकती है। इसका लाभ 48 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारियों और 68 लाख पेंशनभोगियों को लाभ होगा।

ऐसे होगा सैलरी कैलकुलेशन

  • श्रम मंत्रालय ने महंगाई भत्ते (DA Hike) के आधार वर्ष (Base Year) 2016 में बदलाव किया था।
  • श्रम मंत्रालय के मुताबिक, 7th Pay Commission में आधार वर्ष 2016=100 के साथ नई सीरीज 1963-65 के आधार वर्ष की पुरानी सीरीज (WRI-Wage Rate Index) की जगह लेगी।
  • 7th Pay Commission के तहत महंगाई भत्ते (dearness allowance) की मौजूदा दर को मूल वेतन (Basic Pay) से गुणा करने राशि निकाली जाती है। प्रतिशत की मौजूदा दर 12% है।
  • अगर आपका मूल वेतन 18000 रुपए डीए (18000 x12)/100 है, महंगाई भत्ते का फीसदी= पिछले 12 महीने का CPI का औसत-115.76।
  • अब जितना आएगा उसे 115.76 से भाग दिया जाएगा, जो अंक आएगा, उसे 100 से गुणा कर दिया जाएगा।

महंगाई भत्ता और टैक्स

महंगाई भत्ता सरकारी कर्मचारियों को उनके रहने-खाने के लिए दिया जाता है। यह राशि सरकारी कर्मचारियों, पब्लिक सेक्टर के कर्मचारियों और पेंशनधारकों को मिलती है। महंगाई भत्ता पूरी तरह टैक्‍सेबल होता है,आयकर नियमों के तहत इनकम टैक्स रिटर्न (income tax return) में महंगाई भत्ते के बारे में अलग से जानकारी देनी पड़ती है। इसमें आपको जितनी रकम महंगाई भत्ते (DA) के नाम पर मिलती है उस पर टैक्स चुकाना होगा।