कर्मचारियों को मिलेगी एक और खुशखबरी! सैलरी मे आएगा बंपर उछाल, जानें वेतन वृद्धि पर अपडेट

इसका 52 लाख कर्मचारियों को बेसिक सैलरी में 50000 से 96000 तक लाभ मिलेगा ।उदाहरण के तौर पर, यदि किसी केंद्रीय कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18,000 रुपए है, तो भत्तों को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57= 46,260 रुपए का लाभ होगा।

7th pay commission
demo pic

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। महंगाई भत्ते में वृद्धि, बोनस और वेतन वृद्धि के बाद एक और बड़ा तोहफा मिल सकता है।आगामी चुनावों से पहले फिटमेंट फैक्टर में एक बार फिर बढोतरी की जा सकती है। फिलहाल 7वें वेतन आयोग के तहत कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर (Fitment Factor) 2.57 गुना है और बेसिक सैलरी 18000 है। वही 8वें वेतन आयोग में फिटमेंट फैक्टर को 3.68 फीसदी कर मिनिमम बेसिक सैलरी को बढ़ाकर 26000 रुपए किया जा सकता है। इससे  बेसिक सैलरी बढ़ने से कर्मचारियों के वेतन में सालाना 96000 रूपए तक की वृद्धि होगी। हालांकि अभी कोई अधिकारिक पुष्टि या बयान सामने नहीं आया है।

यह भी पढ़े..CG Weather: 19 अक्टूबर से बदलेगा मौसम, हल्की बारिश के आसार, जल्द होगी ठंड की दस्तक, पढ़े विभाग का पूर्वानुमान

वर्तमान में कर्मचारियों को 2.57 फिटमेंट फैक्टर मिल रहा है और संभावना जताई जा रही है कि कर्मचारियों की मांग पर इसे 3.68 फीसदी तक बढाया जा सकता है।इससे न्यूनतम बेसिक सैलरी में 8000 की बढोतरी होगी और बेसिक सैलरी 18 हजार से बढ़कर 26000 हो जाएगी।इसका 52 लाख कर्मचारियों को बेसिक सैलरी में 50000 से 96000 तक लाभ मिलेगा ।उदाहरण के तौर पर, यदि किसी केंद्रीय कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18,000 रुपए है, तो भत्तों को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57= 46,260 रुपए का लाभ होगा।3.68 होने पर सैलरी 95,680 रुपये (26000 X 3.68 = 95,680) हो जाएगी यानि सैलरी में 49,420 रुपए लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़े..Teacher Recruitment 2022: 13500 पदों पर निकली है शिक्षकों की भर्ती, 10 नवंबर से पहले करें Apply, जानें आयु-पात्रता और नियम

8वें वेतन आयोग के लागू होते ही फिटमेंट फैक्टर में भी इजाफा होगा। चुंकी केन्द्रीय कर्मचारियों की बेसिक सैलरी तय करने में अहम रोल माना जाता है।  7वें वेतन आयोग में जो Pay matrix बने है वे Fitment factor पर बेस्‍ड हैं, ऐसे में कर्मचारियों को मिलने वाली सैलरी में फिटमेंट फैक्टर का अहम रोल माना जाता है। इस फैक्टर के कारण ही केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में ढाई गुना से अधिक की बढ़ोतरी होती है।  आखिरी बार 2017 में एंट्री लेवल बेसिक पे 7000 रूपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 18000 रूपये की गई थी

8वां वेतनमान होगा लागू?

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 2024 तक 8वें वेतन आयोग को लाया जा सकता है, इसको लेकर केन्द्र सरकार विचार कर रही है।हालांकि बीते केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने सदन में प्रश्नकाल के दौरान पूछे गए सवाल पर लिखित में जवाब देते हुए कहा था कि 8वें वेतन आयोग के गठन का सरकार के सामने कोई प्रस्ताव नहीं है। फिलहाल सातवां वेतन आयोग जारी रहेगा और इसके तहत ही कर्मचारियों को वेतन-पेंशन सहित महंगाई भत्ते और अन्य भत्ते दिए जाएंगे। हालांकि उन्होंने पूरी तरह से इंकार भी नहीं किया था कि 8वें वेतन आयोग नही आएगा।

नए फॉर्मूले पर भी हो सकता है विचार

दिवंगत पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2016 के संसद में दिए अपने एक भाषण ने इस बात के संकेत दिए थे कि सरकार को वेतन आयोग से आगे कर्मचारियों की सैलरी को लेकर विचार करना चाहिए, ऐसे संभावना जताई जा रही है कि मोदी सरकार अब नया वेतन आयोग ला सकती है या फिर कर्मचारियों की सैलरी के लिए नए फॉर्मूले पर भी विचार कर सकती है।इसके बदले केंद्र सरकार निजी कंपनियों के तहत सरकारी कर्मचारियों की परफॉर्मेंस के आधार पर वेतन वृद्धि कर सकती है। इसके लिए 2024 तक नया प्लान लाया जा सकता है, इसे ऑटोमेटिक पे रिविजन’ का नाम दिया जा सकता है, जिससे 50% DA होने पर वेतन में ऑटोमेटिकली इजाफा हो जाए, हालांकि अभी तक सरकार की तरफ से कोई अधिकारिक पुष्टि नही की गई है।