कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, वेतन में बंपर वृद्धि संभव, मिलेगा लाभ, 8वें वेतन आयोग पर नई अपडेट

7th Pay Commission Fitment Factor : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए 2022 का वर्ष बेहद खुशनुमा रहा है। दरअसल एक के बाद एक बड़े ऐलान हुए। एक तरफ जहां उन्हें कुल 7% डीए वृद्धि का लाभ मिला है। दूसरी तरफ कई अन्य भत्तों में भी वृद्धि की गई है। साथ ही पेंशन योजना सहित कई नियम में महत्वपूर्ण संशोधन भी किए गए हैं। अब एक बार फिर से कर्मचारियों को कई तोहफे मिल सकते हैं।

आ रही जानकारी के मुताबिक 2023 में उनकी सैलरी में सीधा इजाफा देखने को मिल सकता है। ताजा अपडेट की माने तो फिटमेंट फैक्टर की फाइल लगातार आगे बढ़ रही है। साल 2023 के अंत तक सिर्फ ऐसा संभव है। फिटमेंट फैक्टर में 1.11% की वृद्धि के साथ ही कर्मचारियों के वेतन में भारी इजाफा होगा। बेसिक स्तर पर उनके वेतन में बढ़ोतरी होगी।

नए वेतन आयोग पर अपडेट

वर्तमान के आंकड़ों के मुताबिक केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाकर 38 फीसद हो गया है। नए वेतन आयोग की मांग भी शुरू हो चुकी है। हालांकि सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि नए वेतन आयोग को फिलहाल स्थिति यथावत बनी हुई है। हालांकि कर्मचारियों की लंबे समय से की जा रही मांग को सरकार ने विचार करना शुरू कर दिया है। कर्मचारियों को लंबे समय से सातवें वेतन आयोग की सिफारिश के तहत फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाए जाने की मांग पर सरकार गंभीर होती नजर आ रही है।

सूत्रों की मानें तो सरकार द्वारा अगले साल इस पर विचार किया जा सकता है। साल 2023 के अंत तक फिटमेंट फैक्टर पर कोई बड़ा निर्णय खुलकर सामने आने की संभावना तेज हो गई है। जिससे कर्मचारियों की उम्मीद भी बंधने लगी है। फिलहाल इस पर किसी भी तरह की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

8000 रूपए तक बढ़ेंगे न्यूनतम वेतन

जानकारी की मानें तो फिलहाल फिटमेंट फैक्टर के आधार पर केंद्रीय कर्मचारियों की बेसिक सैलरी 18000 रूपए है। न्यूनतम बेसिक सैलेरी 18000 के आंकड़े फिलहाल 2.57 गुना के आधार पर तय किए जा रहे हैं। वहीं केंद्रीय कर्मचारियों की मांग को देखा जाए तो इसमें सिफारिश के तहत 3.68 गुना की वृद्धि की जा सकती है। जिसके बाद उनके न्यूनतम वेतन में बड़ा अंतर आएगा। 3.8 गुना की वृद्धि होने पर कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 8000 बढ़कर 26000 रूपए हो जाएंगे।

ऐसे होगा कैलकुलेशन

वहीं यदि फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाकर 3 गुना किया जाता है तो कर्मचारियों के वेतन में बंपर इजाफा होगा। केंद्रीय कर्मचारियों की वर्तमन न्यूनतम बेसिक सैलरी 18000 है। 18000 को 2.5 गुना करने पर 46260 रूपए बनते हैं। वहीं यदि सिफारिश के मुताबिक अधिकतम वृद्धि 3.68 मान ली जाए तो 26000 गुना 3.68 की दर से कर्मचारियों के वेतन बढ़कर 95680 रूपए हो जाएंगे।

साथ ही यदि सरकार द्वारा फिटमेंट फैक्टर में 3 गुना की वृद्धि की जाती है तो बेसिक सैलरी 21000 रूपए हो जाएगी। जिसके बाद कुल सैलरी भत्तों से अलग फिटमेंट फैक्टर से उनके वेतन बढ़ कर 63000 रूपए हो सकते हैं।

फिटमेंट फैक्टर का प्रभाव

कर्मचारियों की सैलरी में फिटमेंट फैक्टर के तहत इजाफा देखने को मिलता है । बेसिक सैलरी और फिटमेंट फैक्टर से ही सैलरी भत्ते तय किए जाते हैं। वेतन तय करते समय महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, हाउस रेंट अलाउंस के साथ बेसिक सैलरी के फिटमेंट फैक्टर से गुणा करके कर्मचारियों के वेतन तय किए जाते हैं। इसमें इपीएफ ग्रेच्युटी को भी शामिल किया जाता है जो कि DA में तय किए जाते हैं। इन सारे भत्ते और कटौतियों के बाद कर्मचारियों की सीटीसी तैयार की जाती है।

बजट 2023 के बाद विचार संभव

कर्मचारी यूनियन का कहना है कि सरकार कर्मचारियों की मांग पर एक विकल्प तलाश कर रही है। कैबिनेट सचिव से कर्मचारी यूनियन की मुलाकात हो चुकी है। आश्वासन भी दिया गया है। फिटमेंट फैक्टर की फाइल को सरकार जल्द ही आगे बढ़ा सकती है। बजट 2023 के बाद इस पर विचार किया जा सकता है।