हादसा : मणिपुर में आर्मी कैंप के पास लैंडस्लाइड, 7 जवानों के शव बरामद

इस हादसे के बाद दर्जनों जवान मिट्टी में दब गए।

नई दिल्ली,डेस्क रिपोर्ट। पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर (manipur) में कई दिनों से जारी बारिश की वजह से लैंडस्लाइड की घटनाएं सामने आ रही है। बुधवार रात नोनी जिले के तुपुल रेलवे स्टेशन के पास हुए लैंडस्लाइड की चपेट में 107 टेरिटोरियल आर्मी का कैंप आ गया। इस हादसे के बाद दर्जनों जवान मिट्टी में दब गए।

यह भी पढ़े…IBPS Recruitment: क्लर्क पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया जुलाई से शुरू, अगस्त में होगी परीक्षा, जाने आयु-पात्रता

मिली जानकारी के अनुसार, अब तक 7 जवानों के शव बाहर निकाले जा चुके हैं, जबकि 13 जवानों को रेस्क्यू कर लिया गया है। वहीं, 30-40 से ज्यादा अभी दबे हुए हैं। मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह इसे लेकर एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है। घायलों की मदद के लिए डॉक्टरों की एक टीम मौके पर रवाना हो गई है।

यह भी पढ़े…KIA Seltos Facelift पर से उठा पर्दा, कंपनी ने किए हैं कई बड़े बदलाव

बता दें कि घायलों को इलाज के लिए नोनी आर्मी मेडिकल यूनिट लाया गया है। भूस्खलन के वजह से इजाई नदी का प्रवाह प्रभावित हुआ है। यह नदी तामेंगलोंग और नोनी जिलों से होकर बहती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ नागरिकों के भी मलबे में दबे होने की आशंका है। खराब मौसम की वजह से रेस्क्यू मिशन में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। सेना के हेलिकॉप्टर भी मौके पर पहुंच चुके हैं।

यह भी पढ़े…इंदौर में महिला से दुष्कर्म कर वीडियो वायरल करने की धमकी देने वाला जिम ट्रेनर गिरफ्तार

जिला प्रशासन आस-पास के ग्रामीणों को सावधानी बरतने और जल्द से जल्द जगह खाली करने की एडवाइजरी जारी की है। एडवाइजरी में कहा गया है कि मलबे की वजह से इजाई नदी ब्लॉक हो गई है। जिससे एक ही जगह पर जल भराव के कारण बांध जैसी स्थिति बन गई है। अगर यह टूट गया तो निचले इलाकों में और ज्यादा तबाही मच सकती है।

यह भी पढ़े…Mandira Bedi ने पति के लिए लिखी इमोशनल पोस्ट, कहा ‘तुम्हारे बिना 365 दिन’

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस घटना पर जानकारी देते हुए लिखा, “मणिपुर में तुपुल रेलवे स्टेशन के पास भूस्खलन के मद्देनजर मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह और केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात की। बचाव कार्य जोरों पर है। एनडीआरएफ की एक टीम मौके पर पहुंच गई और बचाव कार्यों में शामिल हो गई।