एयर स्ट्राइक पर बोले वायुसेना प्रमुख , हम टारगेट हिट करते हैं, कितने मरे ये नहीं गिनते

-Air-Chief-Speaking-on-Air-Strike-We-Hit-Target-on-do-not-count-casualties

नई दिल्ली| पाकिस्तान में भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयरस्ट्राइक पर देशभर में जारी बयानबाजी के बीच एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने कहा है कि वायुसेना का काम टारगेट को हिट करना है, हमनें वो किया. उससे कितने आतंकी मारे गए ये गिनना हमारा काम नहीं है| भारतीय वायुसेना के ऑपरेशन बालाकोट के बाद यह बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर इस पूरी कार्रवाई में कितने आतंकी मारे गए हैं| इसको लेकर मीडिया पर 300 से 350 आतंकी मारे जाने की खबरे खूब चली थी, लेकिन सेना की तरफ से इस संख्या को लेकर अब तक साफ़ नहीं कहा गया है, वहीं राजनीति में इसको लेकर बयानबाजी का दौर तेज हो गया है और विवादित बयान भी सामने आ रहे हैं| 

एयर फोर्स चीफ बीएस धनोआ ने साफ कहा है कि वायुसेना का मकसद सिर्फ लक्ष्य पर निशाना साधना होता है, वह मरने वालों की संख्या गिनने का काम नहीं करती है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अगर वायुसेना के हमले से नुकसान नहीं हुआ तो वे (पाकिस्तान) हमला नहीं करने नहीं आते| उनके इस बयान के बाद से यह जरूर साफ हो गया है कि खबरों में मरने वाले आतंकियों की संख्या जो बताई जा रही है उसका कोई पुख्ता आंकड़ा नहीं है| वहीं यह भी साफ़ है कि जिस तरह पाक ने कहा था कि खाली जगह पर बम गिराए गए हैं, जबकि  एयर फोर्स चीफ ने साफ किया कि बम लक्ष्य पर गिराए गए हैं। एयर स्ट्राइक के बाद अपनी पहली प्रेस ब्रीफिंग में वायुसेना प्रमुख बी. एस. धनोआ ने साफ किया कि एयर फोर्स ने सफलतापूर्वक टारगेट को हिट किया। 

बता दें कि 26 फरवरी की सुबह वायुसेना के मिराज विमानों ने पाकिस्तान में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एयरस्ट्राइक की थी. वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में जाकर आतंकी ठिकानों को हिट किया|  एयर स्ट्राइक में आतंवादियों की मौत से जुड़े सवाल के जवाब में वायुसेना प्रमुख ने कहा, हम टारगेट हिट करते हैं, मानव शवों को नहीं गिनते। हम सिर्फ यह देखते हैं कि टारगेट हिट किया है नहीं। हां, हमने हिट किया। मिग-21 बाइसन का इस्तेमाल क्यों किया गया, इस सवाल के जवाब में वायुसेना प्रमुख ने कहा, क्यों नहीं करेंगे…मैं चल रहे ऑपरेशन के बारे में कॉमेंट नहीं कर सकता। …ऑपरेशन अभी भी जारी है। धनोआ ने कहा कि मिग 21 बाइसन अपग्रेडेड विमान है और हम अपने सभी उपलब्ध विमानों का इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मिग-21 बाइसन एक अच्छा विमान है, उसे अपग्रेडेड किया गया है। वह बेहतर रेडार, एयर-टु-एयर मिसाइलें और बेहतर वीपन सिस्टम से लैस है। उसे अपग्रेड कर 3.5 जेनरेशन का कर दिया गया है|