भारतीय वायुसेना का हैरतअंगेज कारनामा, कारगिल एयरस्ट्रिप पर पहली बार रात के अंधेरे में करवाई हरक्यूलस विमान की लैंडिंग

Indian Air Force

Indian Air Force: भारतीय वायुसेना को समय-समय पर अपने कारनामे दिखाते हुए देखा जाता है। इस समय लद्दाख के कारगिल में भीषण ठंड का मौसम देखने को मिल रहा है। देश की सुरक्षा के लिहाज से यह इलाका काफी अहम माना जाता है। यही कारण है कि यहां पर भारतीय थल सेना और वायुसेना दोनों को ही अपनी ड्यूटी निभाते हुए देखा जाता है। अब भारतीय वायु सेना को यहां एक बड़ा कारनामा करते हुए देखा गया है। सेना के जवानों ने यहां पर रात के समय सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस विमान की लैंडिंग करवाई है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

भारतीय वायुसेना ने दी जानकारी

रात के समय कराई गई हरक्यूलिस विमान की इस लैंडिंग के संबंध में भारतीय वायुसेना ने ट्वीट करते हुए जानकारी दी है। ट्विटर में वीडियो के साथ लिखा हुआ है की पहली बार c-130 जे एयरक्राफ्ट को कारगिल एयरस्ट्रिप पर रात के समय लैंडिंग करवाई गई है। इस दौरान टेरेन मास्किंग करते गरुड़ कमांडो भी तैनात किए गए थे। यह एक ऐसी रणनीति है जो दुश्मनों के रडार से बचने के लिए जंगल, पहाड़ों और प्राकृतिक स्थान पर इस्तेमाल की जाती है।

 

रात के समय मुश्किल है लैंडिंग

कारगिल का एरिया पूरी तरह से पहाड़ों से घिरा हुआ है और यहां पर विमान की लैंडिंग करना काफी मुश्किल का काम है। सर्दियों के समय में जब यहां बर्फबारी हो जाती है तो यह काम और भी मुश्किल हो जाता है। दोपहर में तो फिर भी ठीक है लेकिन रात के अंधेरे में लैंडिंग काफी मुश्किल और खतरनाक होती है। लेकिन भारतीय वायुसेना ने यह कमाल कर दिखाया है।

ऐसा होता है हरक्यूलस विमान

वायुसेना ने सुपर हरक्यूलिस विमान को कारगिल एयरस्ट्रिप पर रात में लैंड कराया है, वह काफी ताकतवर विमान है। इसे उड़ाने में तीन लोगों की आवश्यकता पड़ती है जिसमें से दो पायलट और एक लोड मास्टर होता है। यह ऐसा विमान है जिसकी रफ्तार 644 किलोमीटर प्रति घंटा है। यह बिना तैयार रनवे पर छोटी लैंडिंग और टेक ऑफ भी कर सकता है। यह टर्बोप्रॉप इंजन से लैस है। यह वायुसेना की 12वीं फ्लीट का हिस्सा है, साल 2011 में इसे सेना में जगह दी गई।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News