87 साल की उम्र में पूर्व मुख्यमंत्री ने दी दसवीं कक्षा की परीक्षा, बोले अच्छे अंक लाऊँगा

हरियाणा,डेस्क रिपोर्ट। 87 साल की उम्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कक्षा दसवीं की परीक्षा, सुनकर बेहद अजीब लगता है।लेकिन यह कमाल दिखाया है, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने। पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने दसवीं कक्षा के अंग्रेजी विषय का पेपर दिया। परीक्षा देने के बाद उन्होनें कहा मैनें पेपर की पूरी तैयार की थी तथा सौ फीसदी अंक यानी बहुत अच्छे अंको से पास हो जाऊंगा।

मशहूर शायर मुनव्वर राना का तालिबान के समर्थन में बयान, कहा- ‘वो आतंकी नहीं’

ओम प्रकाश चौटाला 87 साल के है। इस उम्र में भी उनके परीक्षा देने की ललक ने उदाहरण दे दिया कि पढ़ाई की कोई उम्र नही होती। चौटाला ने दो साल पहले दसवीं कक्षा के पेपर दिए थे, लेकिन अंग्रेजी विषय का पेपर नहीं दे सके, इसलिए अब वह अंग्रेजी विषय का पेपर दे रहे हैं, उनका विश्वास है कि वह सौ प्रतिशत अंक लेकर इस पेपर में पास होंगे। सिरसा के आर्य समाज रोड पर आर्य कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल में बने परीक्षा केंद्र में उन्होंने यह परीक्षा दी। हालांकि चौटाला ने कक्षा बाहरवीं की भी परीक्षा दी हुई है लेकिन भिवानी शिक्षा बोर्ड ने उनका परिणाम रोक लिया है, इसकी वजह दसवीं कक्षा के अंग्रेजी विषय के पेपर में पास न होना बताया है। सिरसा स्कूल की दसवीं कक्षा की छात्रा मलकियत कौर ने ट्रांसलेटर के तौर पर चौटाला की यह परीक्षा दी। फिलहाल परीक्षा देने के बाद 87 साल के इस छात्र ने दावा किया है अच्छे अंक लाऊँगा।