कांग्रेस विधायक के काफिले पर हमला, स्वास्थ्य मंत्री पर लगे आरोप, बोले-गोली भी चल सकती थी

पूर्व केंद्रीय मंत्री

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से सटे राज्य छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में कांग्रेस विधायक (Congress MLA) पर हमला हुआ है। यहां शनिवार देर रात अंबिकापुर के लरंगसाय चौक के पास किया गया, जब रामानुजगंज विधानसभा (Ramanujganj Assembly) से कांग्रेस विधायक बृहस्पति सिंह का काफिला यहां से गुजर रहा था तभी  पीछे चल रही एक गाड़ी को कुछ युवकों ने रोका और तोड़फोड़ करना शुरु कर दी। घटना के बाद विधायक सीधे कोतवाली थाना अंबिकापुर पहुंचे और मामला दर्ज करवाया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़े..MP Weather Alert: मप्र के 3 दर्जन से ज्यादा जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने के भी आसार

इतना ही नहीं ड्राइवर और गाड़ी में बैठे कांग्रेस विधायक के सुरक्षाकर्मियों से बदसलूकी और मारपीट भी की गई।हालांकि  कांग्रेस विधायक पूरी तरह से सुरक्षित है। घटना के बाद विधायक (Congress MLA Brihaspati Singh) सीधे कोतवाली थाना अंबिकापुर पहुंच गए है और दिखाया कि काफिले में चल रही एक गाड़ी के शीशे तोड़ दिए गए हैं और उनके साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों और कुछ कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई है। उन्होंने घटना की शिकायत दर्ज करा इसे राजनैतिक विद्वेष करार दिया है।

जानकारी मिलते ही एसपी अमित कांबले मौके पर पहुंचे। पुलिस ने इस मामले में कुछ युवकों को हिरासत में लिया है उनसे पूछताछ जारी है।सरगुजा एसपी(Surguja SP) अमित कांबले ने बताया कि इस घटना में मुख्य आरोपी सचिन सिंहदेव है। इसके साथ धन्नो उरांव और संदीप रजक नाम के युवक भी शामिल थे। इन्होंने ही कांग्रेस विधायक की काफिले की गाड़ी को रोका और मारपीट की। विधायक की कार ने इन युवकों को ओवरटेक किया था जिसकी वजह से गाड़ी रोक कर मारपीट की गई।

यह भी पढ़े.. कमलनाथ के गढ़ में हुंकार भरेंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार आएंगे MP

कांग्रेस विधायक ने इसे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (CG Health Minister TS Singhdeo) के निर्देश पर होना बताया है। उनका आरोप है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के समर्थन में मेरे द्वारा दिया गया बयान इसका कारण है। संयोग से उस गाड़ी में मैं नहीं था अगर मैं होता तो मेरे ऊपर गोली भी चलाई जा सकती थी। इस मुद्दे पर हम पार्टी आलाकमान और मुख्यमंत्री जी से बात करेंगे।  हालांकि पूरे मामले पर टीएस सिंह सहदेव ने कहा है कि ऐसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।