बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा ऐलान- ‘नहीं लड़ूंगी लोकसभा चुनाव’

bahujan-samaj-party-bsp-chief-mayawati-will-not-contest-the-lok-sabha-elections

नई दिल्ली।

लोकसभा चुनाव की सियासी हलचल के बीच बसपा सुप्रीमो मायावती ने बड़ा ऐलान किया है। लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मायावती ने कहा कि वह इस बार का लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगी। मीडिया से बात करते हुए बीएसपी सुप्रीमो ने कहा मैं जब चाहूं लोकसभा का चुनाव जीत सकती हूं। हमारा गठबंधन बेहतर स्थिति में है। मैं लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ूंगी। आगे जरूरत पड़ने पर किसी भी सीट से चुनाव लड़ सकती हूं। इससे पहले मायावती के नगीना और अकबरपुर जैसी लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ने की चर्चा थी। वही सपा और बसपा के गठबंधन के बाद इस बात की चर्चा जोरों पर थी कि क्या मायावती लोकसभा का चुनाव लड़ेंगी। आज प्रेसवार्ता के बाद उन सभी अटकलों पर विराम लग गया है। 

मायावती ने इस दौरान कहा कि मौजूदा हालात के अलावा पार्टी और जनहित को देखते हुए उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। माया ने कहा आगे जहां से चाहूं सीट खाली कराकर चुनाव लड़कर संसद जा सकती हूं। मेरे चुनाव लड़ने पर कार्यकर्ता मना करने के बावजूद मेरी लोकसभा सीट पर प्रचार करने जाएंगे, इससे बाकी सीटों पर चुनाव प्रभावित होगा। मैंने इसी वजह से यह फैसला लिया है।उन्‍होंने जोर देकर कहा कि उनकी जीत से कहीं ज्‍यादा जरूरी सपा-बसपा गठबंधन की अधिक से अधिक सीटों पर जीत महत्‍वपूर्ण है। मायावती की यह घोषणा काफी अहम है, क्योंकि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा का गठबंधन है और यह गठबंधन कई राज्यों में साथ मिलकर चुनाव लड़ रहा है।

मायावती ने यह भी कहा कि वह कहीं से भी चुनाव जीत सकती हैं। उन्‍हें बस नामांकन करना है, बाकी उनके कार्यकर्ता संभाल लेंगे। पर उनकी व्‍यक्तिगत जीत उतनी मायने नहीं रखती, जिनता का सपा-बसपा-रालोद गठबंधन का अधिक से अधिक सीटों पर चुनाव जीतना। उन्‍होंने कहा सपा, रालोद के साथ हमारा मजबूत गठबंधन है और हम बीजेपी को जरूर हराएंगे।

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस देश में गरीब, मजदूर, किसान, बेरोजगार, मेहनतकश लोग अहंकारी बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए ही यूपी में बसपा, सपा और आरएलडी का गठबंधन किया गया है। मैं इस गठबंधन को किसी भी कीमत पर जरा सा भी नुकसान होते हुए नहीं देखना चाहती हूं, इसलिए मेरे खुद के जीतने से ज्यादा जरूरी एक-एक सीट को जीतना है।

बता दे कि यूपी की 80 लोकसभा सीटों पर एसपी-बीएसपी और आरएलडी गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रहे हैं। बीएसपी 38, एसपी 37 और आरएलडी 3 सीटों पर मैदान में उतरेगी।