अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर फिर बढ़ा प्रतिबंध, 31 अक्टूबर तक उड़ानों पर रोक

दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर एक बार फिर 31 अक्टूबर तक के लिए रोक लगा दी गई है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध को एक महीने यानी 31 अक्टूबर, 2021 तक बढ़ा दिया है। कोरोना के चलते यह प्रतिबंध मार्च 2020 से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध मार्च 2020 से लागू है। हालांकि यह प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय कार्गो उड़ानों और विशेष रूप से विमानन नियामक द्वारा अनुमोदित उड़ानों पर लागू नहीं होगा।

Bhind News : अवैध हथियारों की तस्करी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का पुलिस ने किया फर्दाफाश

सर्कुलर में कहा गया है, यह प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय ऑल-कार्गो संचालन और डीजीसीए द्वारा विशेष रूप से अनुमोदित उड़ानों पर लागू नहीं होगा। हालांकि, सक्षम प्राधिकारी द्वारा मामले के आधार पर चयनित मार्गों पर अंतर्राष्ट्रीय अनुसूचित उड़ानों की अनुमति दी जा सकती है। पिछले साल 23 मार्च को कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सभी निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को प्रतिबंधित कर दिया गया था। वहीं, पिछले महीने, डीजीसीए ने निर्धारित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों पर निलंबन 30 सितंबर तक बढ़ा दिया था।

Youtube देख खुद अपना अबॉर्शन कर रही थी युवती, प्रेमी की सलाह पर उठाया खतरनाक कदम

बता दें कि भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन, संयुक्त अरब अमीरात, केन्या, भूटान और फ्रांस सहित 27 देशों के साथ हवाई बबल समझौते किए हैं। दो देशों के बीच एक एयर बबल पैक्ट के तहत, उनकी एयरलाइनों द्वारा उनके क्षेत्रों के बीच विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें संचालित की जा सकती हैं। आपको बता दें कि इसके तहत हवाई यात्रा के लिए दो देशों के बीच करार किया जाता है। दो देशों द्वारा द्विपक्षीय समझौता कर के जब एक खास एयर कॉरिडोर बनाया जाता है तो उसे एयर बबल कहते हैं, ताकि हवाई यात्रा में कोई दिक्कत ना आए।