कर्मचारियों को लगा बड़ा झटका, प्रबंधन ने विशेष भत्ते पर लगाई रोक, आदेश जारी, दिसंबर में घटकर आएगा वेतन

अधिकारी कर्मचारी को फिर से बड़ा झटका लगा है।सेल प्रबंधन द्वारा अपने कर्मचारियों के विशेष भत्ते पर रोक लगा दी गई है। इस आदेश के बाद कई कर्मचारियों के वेतन में कटौती देखने को मिलेगी। आदेश 1 नवंबर 2022 से प्रभावी होगा।

SAIL Employees Special Allowances : अधिकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर है। प्रबंधन द्वारा उनके विशेष भर्ती पर रोक लगा दी गई है। ऐसे में उन्हें विशेष भत्ते का लाभ नहीं मिल पाएगा। मुख्यालय द्वारा इसके लिए आदेश जारी किए गए हैं। सेल मुख्यालय के तरफ से जारी हुए इस आदेश के बाद अब 1 नवंबर 2022 अधिकारी कर्मचारियों को विशेष भत्ते का लाभ नहीं दिया जाएगा।

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से जारी इस आदेश के बाद अब बोकारो स्टील प्लांट सहित अन्य माइंस यूनिट में काम करने वाले 600 से अधिक कर्मचारियों अधिकारियों को बड़ा झटका लगेगा। जारी आदेश के तहत 1 नवंबर 2022 से इस नियम को प्रभावी किया जाएगा।

विशेष भत्ते का लाभ

अधिकारी कर्मचारियों को उनकी बेसिक सैलरी के 8% राशि को विशेष भत्ते के तौर पर उपलब्ध कराया जाता था। इस पर रोक लगने के बाद अधिकारी कर्मचारियों की सैलरी में भी कमी देखी जाएगी। जिसके बाद कर्मचारी काफी आक्रोश में है। झारखंड, उड़ीसा और छत्तीसगढ़ राज्य में अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड के 1 दर्जन से अधिक माइंस इकाई है। इन सभी इकाइयों में कठिन क्षेत्र में काम करने वाले अधिकारी कर्मचारियों को विशेष भत्ते का लाभ उपलब्ध कराया जाता था।

पूर्व महासचिव ने उठाये सवाल

विशेष भत्ते पर रोक लगने के बाद अब स्टील एजुकेटिव फेडरेशन ऑफ इंडिया के पूर्व महासचिव विमल ऋषि ने कमेटी पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि अधिकारियों की सुविधा को दिन-प्रतिदिन हटाया जा रहा है। उनमें कटौती की जा रही है। अधिकारियों के वेतनमान का मामला अभी तक नहीं सुलझ सका है। इसके अलावा उन्हें एडवांस पीआरपी का भी लाभ नहीं दिया गया। बावजूद इसके अब विशेष भत्ते को भी रोका जा रहा है। जो कि बेहद गलत है।

कहाँ-कितने माइंस

बोकारो इस्पात संयंत्र के अंतर्गत पश्चिमी सिंहभूम में किरीबुरू, मेघाहातुबुरु, मनोहरपुर, गूआ, चिरिया के अलावा राउरकेला इस्पात के अंतर्गत भी 7 माइंस आते हैं। हालांकि इस आदेश के बाद बोकारो संयंत्र में काम करने वाले अधिकारियों को सबसे बड़ा नुकसान लगेगा। संख्या की दृष्टि से बोकारो स्टील प्लांट में कार्यरत अधिकारियों की संख्या अधिक है।

इतना लगेगा नुकसान

उदाहरण के लिए यदि किसी कर्मचारी का मासिक वेतन 30000 रुपए है। तो विशेष भत्ते के तौर पर उन्हें 8% के आधार पर 2400 का लाभ दिया जाता था। जिसमें अब कटौती की जाएगी।