चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, रैली-रोड शो पर बढ़ाई पाबंदी, इनडोर हॉल में मीटिंग के लिए ये आदेश

अभी चुनावी रैलियों और रोड शो पर प्रतिबन्ध 15 जनवरी तक था।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। पांच राज्यों में होने वाले चुनावों पर नजर रखे चुनाव आयोग (Election Commission Of India) की नजर बढ़ते कोरोना संक्रमण (Corona Infection) पर भी है। कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला लिया है।  आयोग ने चुनावी रैलियों और रोड शो पर पाबंदी बढ़ा कर 22 जनवरी कर दी है, अभी ये प्रतिबन्ध 15 जनवरी तक था।

चुनाव आयोग ने फैसले की जानकारी देते हुए बताया है कि आयोग 22 जनवरी को फिर समीक्षा करेगा उसके बाद आगे फैसला होगा तब तक राजनैतिक दलों को डिजिटल, वर्चुअल प्रचार करना होगा। आयोग ने इनडोर हॉल में चुनावी मीटिंग्स के लिए संख्या 300 अथवा हॉल की क्षमता से 50 प्रतिशत निर्धारित कर दी है।

ये भी पढ़ें – विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम भी कोरोना संक्रमित

गौरतलब है कि  उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में आने वाले समय ने चुनाव हैं।  चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को खासतौर पर कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए हैं। आयोग ने प्रशासनिक अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं कि कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन करने वालों पर नियमानुसार कार्रवाई करें।

ये भी पढ़ें – Gwalior में एक दिन में 756 नए कोरोना पॉजिटिव, कलेक्टर की ये अपील

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में फरवरी और मार्च में 7 चरणों में चुनाव होंगे। 10, 14, 20, 23 और 27 फरवरी के साथ 3 एवं 7 मार्च को मतदान होंगे और नतीजे 10 मार्च 2022 को आएंगे। इन सभी राज्यों में विधानसभाओं का कार्यकाल अगले दो से तीन महीने में पूरा हो रहा है।