कर्मचारियों को मिला बड़ा तोहफा, वेज रिवीजन, 9000 तक बढ़कर मिलेगी सैलरी

वर्तमान में कर्मचारियों को 14,664 रूपये मिल रहे थे और अब प्रतिमाह 23,641 रुपये वेतन मिलेगा। वहीं ग्रुप इंश्योरेंस की राशि 2 लाख से बढ़कर सीधे 10 लाख रूपये कर दी गई है।

employees salary hike

जमशेदपुर, डेस्क रिपोर्ट। Wage Revision. एक मई 2021 से लंबित टाटा स्टील की शत प्रतिशत सब्सीडियरी वाली इंडियन स्टील वायर प्रोडक्ट  आईएसडब्ल्यूपी (तार कंपनी) में ई सीरिज के कर्मचारियों के ग्रेड रिवीजन का फैसला हो गया है।मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वेज रिवीजन समझौते पर यूनियन व प्रबंधन के प्रतिनिधियों ने हस्ताक्षर भी कर दिया। इसके बाद कर्मचारियों की सैलरी में हर महीने 9 हजार की बढोतरी होगी वही ग्रुप इश्योरेंस में भी इजाफा किया गया है।

यह भी पढ़े.. MP Government Job 2022: 350 से ज्यादा विभिन्न पदों पर निकली भर्ती, अच्छी सैलरी, जानें आयु-पात्रता

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार,आईएसडब्ल्यूपी (तार कंपनी) में ई सीरिज के 225 कर्मचारियों का ग्रेड रिवीजन समझौता करने के बाद यूनियन व प्रबंधन के प्रतिनिधियों ने हस्ताक्षर भी कर दिया। इसके बाद कर्मचारियों के वेतन में प्रतिमाह कुल मिलाकर 8,976 रूपये का फायदा होगा।वर्तमान में कर्मचारियों को 14,664 रूपये मिल रहे थे और अब प्रतिमाह 23,641 रुपये वेतन मिलेगा। वहीं ग्रुप इंश्योरेंस की राशि 2 लाख से बढ़कर सीधे 10 लाख रूपये कर दी गई है।

यह भी पढ़े.. IMD Alert: मौसम में बदलाव, 10 राज्यों में 8 अप्रैल तक बारिश की चेतावनी, उत्तर भारत में लू का अलर्ट

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो यह 1 मई 2021 से 30 अप्रैल 2028 तक प्रभावी रहेगा। इतना ही नहीं लगभग 10 महीने का एक सप्ताह अंतर कर्मचारियों को 65 से 70 हजार एरियर भी मिलेगा।इस फैसले के बाद कर्मचारियों के लिए लीव बैंक बनेगा, 5 दिन का पैटरनिटी लीव के साथ वेरिएबल एलाउंस का लाभ मिलेगा।इसके अलावा फ्यूनरल एक्सपेंस का 10 हजार से बढाकर 15 हजार किया गया।वहीं न्यू बार्न बेबी स्कीम में एक हजार रूपये मिलेगा।

देखें कहां कितनी हुई बढ़ोतरी
बेसिक-6100 से बढ़कर 8600 हुआ
फिक्स डीए-200 से बढ़कर अब 250 हुआ
ट्रांसपोर्ट-1300 से बढ़कर 2400
शिक्षा -1500 से 2650
एचआरए-175 से बढकर 500
स्पेशल अलाउंवेंस 1300 से बढकर 2100
वैरिएवल अलाएंस 00 से बढ़कर 750
कैंटीन-312 से बढ़कर 520
एलटीए- 417 से बढकर 750
ग्रुप इंश्योरेंस 00 से बढ़कर 400
अप्रत्यक्ष भत्ता-3360 से बढकर 4721