हजारों पेंशनरों के लिए बड़ी खबर, पेंशन राशि रुकी, ये है बड़ा कारण, जानें कब मिलेगा लाभ?

लाभार्थी सीएससी या अटल सेवा केंद्र पर जाकर अपने परिवार पहचान पत्र में अपने स्पाउस के नाम की व अपने मैरिटल स्टेट्स में विधवा लिखवा लें।

pensioners pension

पानीपत, डेस्क रिपोर्ट। हरियाणा के हजारों पेंशनरों को बड़ा झटका लगा है। 36 हजार बुजुर्गों पेंशन रोक दी गई है।इसका कारण सामान्य लाभार्थी के नाम के सामने पेंशनभोगी लिखा जाना व विधवा पात्र के नाम के सामने पति का नाम दर्ज होना। हालांकि  विभाग द्वारा पेंशनरों को जल्द से जल्द इस गलती को सुधारने  और पीपीपी को सही करने को कहा गया है, जिसके बाद पेंशन राशि जारी की जाएगी।

यह भी पढ़े.. MP रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, अगस्त में भोपाल से चलेगी 14 स्पेशल ट्रेनें, इन ट्रेनों के फेरे बढ़े, 6 के स्टॉपेज बढ़े

इस घटनाक्रम के बाद पेंशनर्स ने पीपीपी, आधार और पेंशन के लिए जिला समाज कल्याण विभाग चक्कर लगाना शुरू कर दिया, हालांकि विभाग ने भी बात को गंभीरता से लेते हुए तुरंत डोर-टू-डोर वेरिफिकेशन के आदेश दिए है। इसके तहत नगर निगम एरिया में सक्षम व निगम कर्मचारी और ग्रामीण एरिया में आंगनबाड़ी वर्करों द्वारा वेरिफाई किया गया कि पेंशनधारक किस श्रेणी में है। वह किसी विभाग से रिटायर है या नहीं, यह काम लगभग पूरा भी हो चुका है।

राहत की बात ये है कि समाज कल्याण विभाग की ओर से स्पष्ट किया गया है कि विधवा पेंशन के अंतर्गत जिन लाभार्थियों के परिवार पहचान पत्र में उनके पति का नाम दर्ज होने के कारण पेंशन रोक ली गई है, ऐसे लाभार्थी सीएससी या अटल सेवा केंद्र पर जाकर अपने परिवार पहचान पत्र में अपने स्पाउस के नाम की व अपने मैरिटल स्टेट्स में विधवा लिखवा लें। पीपीपी में सुधार के बाद उनकी पेंशन पुन: आरंभ हो जाएगी।

यह भी पढ़े.. हजारों कर्मचारियों को रक्षाबंधन का तोहफा, इस भत्ते में बढ़ोतरी, जुलाई में इतनी बढ़कर आएगी सैलरी

वही विभाग की ओर से यह भी स्पष्ट किया गया है कि जिन लाभार्थियों की पति पत्नी की आय परिवार पहचान पत्र में दो लाख रुपये से अधिक होने के कारण पेंशन रोकी गई है, वह आय का ब्यौरा ठीक करवा लें। पीपीपी में उनकी आय दो लाख रुपये से कम होने उपरांत पेंशन शुरू हो जाएगी। जो लाभार्थी पेंशनभोगी मतलब किसी विभाग से सेवानिवृत नहीं हैं, वह भी अपने पीपीपी में दुरुस्त करवा लें।

इधर, हरियाणा के जींद में भी परिवार पहचान पत्र अपडेट ना होने से 4500 पेंशनरों की पेंशन अटक गई है।जबकी समाज कल्याण विभाग ने फरवरी में ही 15 हजार लाभार्थियों की पेंशन रुकने पर परिवार पहचान पत्र बनवाने के निर्देश दिए थे,बावजूद इसके पांच महीने बीतने के बाद भी पत्र अपडेट ना होने के चलते जींद जिले में 4476 लाभार्थियों की पेंशन रुकी हुई है। अब जुलाई महीने में 827 लाभार्थियों की पेंशन आई है और 4476 की अभी भी बाकी है।विभाग ने पेंशनरों को जल्द से जल्द पीपीपी करने की कहा गया है, ताकी आगे की पेंशन जारी हो सके।