पेंशनरों के लिए बड़ी खबर, 15 मई से पहले पूरा करें ये काम, वरना खाते में नहीं आएगी पेंशन

पेंशनर्स 15 मई से पहले प्रमाणीकरण करवा लें,क्योंकि जून में पहली किस्त प्रमाणीकरण के आधार पर ही आएगी, वरना पेंशन नहीं मिलेगी। 

pension

लखनऊ/बाराबंकी, डेस्क रिपोर्ट Pension News. उत्तर प्रदेश के हजारों पेंशनरों (UP Pensioners) के लिए बड़ी खबर है। समाज कल्याण के पोर्टल पर वृद्धा पेंशन धारक-पंजीकरण और लिंकअप के लिए 15 मई लास्ट डेट रखी गई है। अगर इस तारीख तक यह डाटा अपडेट नहीं किया गया तो पेंशन (Pension) नहीं मिलेगी।

यह भी पढ़े.. EPFO को लेकर बड़ी अपडेट, जल्द बढ़ सकती है सैलरी लिमिट, लाखों कर्मचारियों को मिलेगा लाभ

दरअसल, यूपी सरकार द्वारा 60 पार वालों को वृद्धा पेंशन (Old Age Pension) दी जाती है।  बाराबंकी जिले में लगभग एक लाख 19 हजार से अधिक लोग इस पेंशन के लाभार्थी हैं।इस योजना के  नियमों में कुछ बदलाव किया गया है, जिसके तहत वृद्धा पेंशन की अगली किस्त प्रमाणीकरण करने के बाद समाज कल्याण के पोर्टल पर लिंक कराने के बाद ही मिलेगी।इसके लिए 15 मई 2022 आखरी तारीख रखी गई है, इसके बाद कोई बदलाव नहीं होगा और पेंशन भी नहीं मिलेगी।

सामाजिक पेंशन पोर्टल पर जाकर पेंशनधाकर जनसेवा केंन्द्र या फिर कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर प्रमाणीकरण करवा सकते हैं।इसमें लिए जो मोबाईल नंबर आपके आधार कार्ड पर फीड है उसे बैंक खाते से लिंकअप कर दें, तभी प्रमाणीकरण हो सकता है। ध्यान रहे बैंक और आधार कार्ड में फीड मोबाइल नंबर एक ही होना चाहिए। अगर मोबाइल नंबर अलग-अलग हैं तो आपका लिंकअप नहीं हो पाएगा।पेंशनर्स 15 मई से पहले प्रमाणीकरण करवा लें,क्योंकि जून में पहली किस्त प्रमाणीकरण के आधार पर ही आएगी, वरना पेंशन नहीं मिलेगी।

यह भी पढ़े.. नगरीय निकायों को CM का बड़ा तोहफा, 931 करोड़ 50 लाख की राशि जारी, ऐसे मिलेगा लाभ

बता दे कि अब तक कुल 36 हजार वृद्ध पेंशनधारकों ने पोर्टल पर पंजीकरण करवाया है, यानि 1 लाख 19000 में से  केवल 34 प्रतिशत लोगों ने ही पोर्टल पर डाटा, आधार और बैंक खाता लिंक करवाया है और अभी 50 फीसदी का पंजीकरण होना है। हैरानी की बात तो ये है कि  लंबे समय से समाज कल्याण के पोर्टल पर वृद्धा पेंशन धारक-पंजीकरण और लिंकअप का काम चल रहा है। वही निदेशालय से भी आदेश दिया गया था कि सभी पेंशन धारकों का प्रमाणीकरण करा लिया जाए, बावजूद इसके काम में देरी हो रही है, इसके कारण डीएम ने सभी बीडीओ को नोटिस जारी कर दिए हैं ।