सरकारी कर्मचारियों को बड़ी राहत- मिलेगा 30 दिनों का विशेष अवकाश, जानें क्यों?

विभिन्न कारणों से कार्यालय आने में असमर्थ रहे राज्य कर्मचारियों को अधिकतम 30 दिनों का विशेष अवकाश देने का फैसला किया है।

EMPLOYEES-pensioners

लखनऊ, डेस्क रिपोर्ट। यूपी के सरकारी कर्मचारियों (UP Government Employees) के लिए अच्छी खबर है। यूपी की योगी सरकार ने राज्य के सरकारी कर्मचारियों को बड़ी राहत देते हुए कोरोना संक्रमण की स्थिति में अनुपस्थित रहे कर्मचारियों को विशेष अवकाश देने का फैसला किया है।वित्त विभाग के इस प्रस्ताव को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन मंजूरी दे दी गई है।सरकार के इस फैसले से लाखों कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़े.. MP Board: 10वीं-12वीं के रिजल्ट पर ताजा अपडेट, इस आधार पर होगा तैयार, जानें कब होगा जारी?

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यूपी की योगी सरकार ने बड़ी राहत देते हुए कोरोना महामारी के कारण बड़ी संख्या में विभिन्न कारणों से कार्यालय आने में असमर्थ रहे राज्य कर्मचारियों को अधिकतम 30 दिनों का विशेष अवकाश देने का फैसला किया है। वित्त विभाग के प्रस्ताव के तहत, कोरोना से संक्रमित राज्य कर्मचारियों को अधिकतम 30 दिनों या उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आने तक, जो भी कम हो, विशेष अवकाश दिया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वित्त विभाग के प्रस्ताव के तहत, परिवार के सदस्यों के कोरोना होने पर उनकी देखभाल के लिए या आइसोलेशन के कारण  कार्यालय आने में असमर्थ रहे सरकारी कर्मचारियों को अधिकतम 21 दिनों या स्वजन की रिपोर्ट निगेटिव आने तक, जो भी पहले हो, विशेष अवकाश स्वीकृत किया जाएगा। कंटेनमेंट जोन में घर होने के कारण वहां लागू पाबंदियों की वजह से कार्यालय जाने में असमर्थ कर्मचारियों को भी अधिकतम 21 दिनों का विशेष अवकाश मिलेगा।

यह भी पढ़े.. लापरवाही पर बड़ा एक्शन, सरपंच को हटाया, 5 अधिकारियों की सेवा समाप्त, 7 निलंबित, 92 को नोटिस जारी

इसके अलावा कंटेनमेंट जोन के मामले में विशेष अवकाश उस अवधि तक के लिए स्वीकृत होगा जब तक वहां आवागमन पर रोक लागू रही हो। यदि कोई कर्मचारी दो बार कोरोना संक्रमित हुआ है तो उसे दो बार विशेष अवकाश का लाभ दिया जाएगा।