आगामी चुनावों से पहले बड़ा झटका- कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, पूर्व सीएम ने भी छोड़ी पार्टी

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल  ने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया है।कांग्रेस विधायक पद से इस्तीफा देने से अब दलबदल कानून लागू नहीं होगा।

कांग्रेस

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस में उथल पुथल थमने का नाम नही ले रही है और आगामी चुनावों से पहले दल बदल का दौर भी तेजी से चल रहा है।अब उत्तराखंड के कांग्रेस विधायक राजकुमार (Uttarakhand Congress MLA Rajkumar) और गोवा के पूर्व सीएम (Goa Former CM) और कांग्रेस विधायक लुइजिन्हो फलेरियो (Luizinho-Faleiro) ने इस्तीफा  दे दिया है। आगामी चुनावों से पहले दो कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे के बाद पार्टी में हड़कंप मच गया है। इसे आगे के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

यह भी पढ़े.. बड़ी खबर- मध्य प्रदेश उपचुनाव की तारीखों का ऐलान, 30 अक्टूबर को होगा मतदान

दरअसल, बीते दिनों उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले की पुरोला विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक राजकुमार कांग्रेस का दामन छोड भाजपा में शामिल हो गए थे। विधानसभा चुनाव-2022 से पहले दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में राजकुमार ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की थी। इस घटनाक्रम के बाद उत्तराखंड कांग्रेस ने दलबदल कानून के तहत राजकुमार की सदस्यता समाप्त करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखा ही था कि इससे पहले विधायक राजकुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

यह भी पढ़े… MP : पंचायत सचिव-पटवारी निलंबित, 2 आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बर्खास्त, 4 को नोटिस, 2 का वेतन काटा

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल  ने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया है।कांग्रेस विधायक पद से इस्तीफा देने से अब दलबदल कानून लागू नहीं होगा। राजकुमार देहरादून जिले की सहसपुर सीट से भी 2007-12 तक विधायक रह चुके हैं। हालांकि, 2012 में पुरोला से बीजेपी (BJP) का टिकट न मिलने पर उन्होंने निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद साल 2017 में वह कांग्रेस के टिकट पर पुरोला से जीतकर विधानसभा में पहुंचे थे और अब बीजेपी में शामिल हो गए है।

पूर्व सीएम का भी इस्तीफा

गोवा के पूर्व सीएम और दक्षिण गोवा (South Goa) के नवेलिम (Navelim) से कांग्रेस विधायक लुइजिन्हो फलेरियो ने भी इस्तीफा (Resignation) दे दिया है।उन्होंने गोवा के विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपा है। इसी के साथ फलेरियो की टीएमसी (TMC) में शामिल होने की संभावना तेज है।फलेरियो कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के करीबियों में से माने जाते है, ऐसे में यह आगामी चुनावों से पहले कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।इस्तीफे से पहले उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सराहना की और उन्हें एकमात्र “स्ट्रीटफाइटर” (Streetfighter) कहा जो बीजेपी को कड़ी टक्कर दे सकती है।

यह भी पढ़े.. Transfer In MP : मध्य प्रदेश में अधिकारियों के तबादलें, यहां देखें लिस्ट