भाजपा को बड़ा झटका, नाराज जिलाध्यक्ष और पूर्व मंत्री ने दिया इस्तीफा

रांची।

इन दिनों भाजपा की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रही है। आए दिन नेता बगावत कर दल बदल रहे है।महाराष्ट्र के सियासी घटनाक्रम के बाद झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले उम्मीदवारों की सूची आते ही बगावत के सूर तेजी से फूटने लगे है।अब टिकट की आस लगाए बैठे भाजपा जिलाध्यक्ष देवीधन टुडू ने अपने पद व पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।यह इस्तीफा उन्होंने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, भाजपा संथाल परगना प्रभारी प्रदीप वर्मा तथा धर्मपाल को भेजा है।

 बताया जा रहा है कि जिलाध्यक्ष महेशपुर विधानसभा से टिकट की आस में थे, परंतु पार्टी ने झाविमो से भाजपा में आए पूर्व विधायक मिस्त्री सोरेन को महेशपुर से टिकट दिया है। इससे नाराज होकर जिलाध्यक्ष ने इस्तीफा दिया है। हालांकि जिलाध्यक्ष इसे इस्तीफे का कारण नहीं बता रहे हैं।मिस्त्री सोरेन 2009 से 2014 तक झाविमो के टिकट पर महेशपुर से विधायक रह चुके हैं। तब देवीधन टुडू पर भाजपा ने दांव खेला था। 2009 में झाविमो के मिस्त्री सोरेन ने भाजपा के देवीधन टुडू को हराया था। जबकि, 2014 में झामुमो के प्रो स्टीफन मरांडी ने देवीधन टुडू को हराया था।

वही टिकट नहीं मिलने से नाराज पूर्व मंत्री बैद्यनाथ राम ने सोमवार रात भाजपा का दामन छोड़ झामुमो की सदस्यता ग्रहण की। झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने बैद्यनाथ राम का पार्टी में स्वागत किया। झामुमो की सदस्यता ग्रहण करते ही बैद्यनाथ राम ने राज्य सरकार पर निशाना साधा और रघुवर की सरकार को घोषणाओं की सरकार बताया।

बता दे कि झारखंड में 30 नवंबर से लेकर 20 दिसंबर तक पांच चरणों में मतदान होगा। विधानसभा चुनाव के परिणाम 23 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे। चुनाव के पहले चरण के लिए नामांकन भरने की आखिरी तारीख 13 नवंबर है।